इंडोनेशिया में भूकंप की भारी तबाही से मचा मातम-सुनामी आने का भी बढ़ा खतरा
इंडोनेशिया में भूकंप की भारी तबाही से मचा मातम-सुनामी आने का भी बढ़ा खतराSocial Media

इंडोनेशिया में भूकंप की भारी तबाही से मचा मातम-सुनामी आने का भी बढ़ा खतरा

इंडोनेशिया के पश्चिम सुलावेसी प्रांत में जाेरदार भूकंप की भारी तबाही से मचा मातम अभी तक रूका नहीं है, यहांं अब तक 35 लोगों की मौत व 700 लोग घायल और 15000 लोगों के विस्थापित होने की मिली जानकारी...

इंडोनेशिया। पूरी दुनिया महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से परेशान है और इस संकटकाल में प्राकृतिक आपदा भी अपनी कहर बरपा रही है, जिससे लोगों की जान जा रही है। भारत सहित कई देशों की धरती भूकंप की वजह से बार-बार कांप रही है। इसी बीच इंडोनेशिया के पश्चिम सुलावेसी प्रांत में आधी रात के बाद आये जाेरदार भूकंप की भारी तबाही अभी तक रूकी नहीं है। यहांं मृत्‍यु व घायलों की संख्‍या में इजाफा हुआ है।

मरने वाले और घायल लोगों की संख्‍या में इजाफा :

तबाही के छाए हुए बादलों ने इंडोनेशिया को तहस-नहस करके रख दिया है और आज शुक्रवार को जिस तरह से मरने वाले और घायल लोगों की संख्‍या में इजाफा हुआ है। वह काफी हैरान कर देने वाला है, क्‍योंकि आज सुबह इंडोनेशिया में भूकंप के कारण सिर्फ 3 लोगों की मौत होने की बात सामने आई थी, लेकिन अब हाल ही में जो ताजा आंकड़े सामने आए है, उसमें अब तक 35 लोगों की मौत होने की पुष्टि हुई है और करीब 700 लोग घायल बताए जा रहे हैं और अभी ये भी माना जा रहा है कि, मरने वालों का आंकड़ बढ़ सकता है।

मौसम विज्ञान एजेंसी ने दी सुनामी की चेतावनी :

तो वहीं, मौसम विज्ञान एजेंसी ने आफ्टरशॉक्स की चेतावनी दी है, जिससे वहां सुनामी आने का भी खतरा बढ़ गया है। इसके अलावा भूंकप के बारे में सामने आई जानकारी के अनुसार, भूकंप से गवर्नर के कार्यालय, होटल, कई घरों और स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र को काफी नुकसान पहुंचा है। प्राकृतिक आपदा के कहर से जूझ रहे इंडोनेशिया से अब तक कम से कम 15 हजार लोग अपना घर छोड़कर चले गए हैं और उन्हें 10 सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचाया गया है।

कब आया था भूकंप :

बता दें कि, भूकंप की घटना बीती देर रात के समय 1.28 बजे हुई थी और रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.2 व भूकंप का केंद्र मजाने शहर से 6 किलोमीटर दूर उत्तर-पूर्व में था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co