Iran Missile Attack
Iran Missile Attack|Tweet
दुनिया

युद्ध जैसी स्थिति, अमेरिकी एयरबेस पर दागी दर्जन भर मिसाइलें

अमेरिका-ईरान दोनों देशों में संकट मंडराया है, कासिम सुलेमानी की मौत के बाद से स्थिति बेहद तनावपूर्ण नजर आ रही हैै, अब ईरान ने अमेरिकी एयरबेस पर 12 मिसाइलें दागी हैं।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • अमेरिका के एयरबेस पर ईरान का मिसाइल हमला

  • एक दर्जन से ज्यादा दागी गईं मिसाइल

  • अमेरिका और ईरान में मंडराया संकट, युद्ध जैसी स्थिति

  • अमेरिका और गठबंधन सेनाओं को कोई नुकसान नहीं

राज एक्‍सप्रेस। इस वर्ष 2020 में विदेशों में युद्ध जैसी स्थिति बनी हुई है और अमेरिकी के बाद अब ईरान द्वारा इराक स्थित अल असद अमेरिकी एयरबेस पर बुधवार सुबह हमला किया गया, इस दौरान ईरान ने एक-दो नहीं बल्कि एक दर्जन भर से भी अधिक मिसाइलें दागी (Iran Missile Attack) हैं।

ईरान ने हमला कर लिया बदला :

देखा जाए तो ईरान द्वारा किए गए इस हमले का कारण ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी के अमेरिकी द्वारा किए जाने वाले हमले में मौत होने का बदला लेना है, फिलहाल ईरान ने अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर दागी मिसाइलों से अमेरिकी सेना को कोई नुकसान की अभी कोई खबर सामने नहीं आई है।

वहीं, पेंटागन ने ईरान के हमले की पुष्टि करते हुए कहा कि, अमेरिका और गठबंधन सेना के ठिकानों पर 1 दर्जन मिसाइलों से हमला किया गया है, इससे पहले ईरान ने भी कासिम सुलेमानी की मौत के बाद बदला लेने की बात कही थी।

अमेरिकी के 3 सैन्य ठिकानों पर दागी मिसाइलें :

खबरों के अनुसार ईरान ने इराक में 3 अमेरिकी सैन्य ठिकानों 'अल असद, ताजी, इरबिल सैन्य' ठिकानों पर मिसाइलें दागी हैं। ईरानी रिवॉलूशनरी गार्ड कमाडंर ने बुधवार को सरकारी मीडिया से कहा-

'इराक में यूएस के एयरबेस पर ईरानी मिसाइलों का हमला पहला कदम है। तेहरान अमेरिकी सेना को नहीं बख्शेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को अब यहां से अपनी सेनाओं को हटाना ही होगा या फिर हमारी पहुंच से दूर करना होगा।'

दोनों देशों की स्थिति बेहद तनावपूर्ण :

अमेरिका और ईरान यह दोनों देशों में संकट मंडराया हुआ है और कासिम सुलेमानी की मौत के बाद से स्थिति बेहद तनावपूर्ण होती ही जा रही है। दोनों एक-दूसरे पर हमले कर रहे हैं। यहां एक तरफ वॉशिंगटन का यह कहना है कि, वह मामले पर करीबी नजर टिकाए हुए है। वहीं दूसरी ओर क्षेत्र में तनावपूर्ण स्थिति के कारण नाटो अपने कर्मचारियों को इराक से निकाल रहा है और इराक में नागरिक विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co