जापान के भीषण भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 78
जापान के भीषण भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 78Raj Express

Japan Earthquake : भीषण भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 78, कई जगह पानी की आपूर्ति भी बाधित

2024 Noto Peninsula Earthquake : मलबे और टूटी सड़कों ने बचाव दल की खोज और बचाव कार्यों में चुनौतियों को बढ़ा दिया है।

हाइलाइट्स

  • जापान के भीषण भूकंप में 78 लोगों की हुई मौत।

  • जापान मौसम विज्ञान एजेंसी ने इसे 2024 नोटो प्रायद्वीप भूकंप का नाम दिया।

78 People Died in Japan 2024 Noto Peninsula Earthquake : जापान के मध्य प्रान्त इशिकावा और उसके आसपास 7.6 तीव्रता तक के भूकंपों की एक श्रृंखला के बाद गुरुवार सुबह तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 78 हो गई। राष्ट्रीय समाचार एजेंसी क्योडो ने स्थानीय अधिकारियों के हवाले से खबर दी है कि इशिकावा का सबसे अधिक प्रभावित शहर वाजिमा ने कुल 44 लोगों की मौत की पुष्टि की है। भूकम्प की एक श्रृंखला में पानी के पाइप क्षतिग्रस्त होने के कारण इशिकावा के कई हिस्सों में गुरुवार सुबह तक लगभग 95 हजार घरों में पानी की आपूर्ति बाधित हुई है।

दरअसल, नए साल के दिन जापान के इशिकावा और आस-पास के इलाकों में आए 7.6 तीव्रता के भूकंप आया था। जिसमें अभी भी कई लोगों के दबे होने की आशंका है। हालांकि बचाव कार्य अभी जारी है लेकिन, मलबे और टूटी सड़कों ने बचाव दल की खोज और बचाव कार्यों में चुनौतियों को बढ़ा दिया है। इसके तीन दिन बाद सुनामी की चेतावनी जारी की गई।

भूमि मंत्रालय ने कहा कि सोमवार के भूकंप के बाद सुनामी लहरों से इशिकावा में कम से कम 100 हेक्टेयर क्षेत्र में बाढ़ आ गई, और बाढ़ की वास्तविक सीमा अधिक होने की संभावना है। विशेषज्ञों का कहना है कि भूकंप के बाद के पहले 72 घंटे बचाव के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण होते हैं क्योंकि उसके बाद जीवित रहने की संभावना बहुत कम हो जाती है।

जापानी प्रधान मंत्री फुमियो किशिदा ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, आपदा को 40 घंटे से अधिक समय बीत चुका है। यह समय के खिलाफ दौड़ है और मुझे लगता है कि हम एक महत्वपूर्ण क्षण में हैं। हमें रिपोर्ट मिली है कि कई लोग अभी भी ढही हुई इमारतों के नीचे बचाव का इंतजार कर रहे हैं।'' सोमवार को इशिकावा के नोटो क्षेत्र में उथली गहराई पर 7.6 तीव्रता वाले बड़े भूकंपों की एक श्रृंखला आई। जापान मौसम विज्ञान एजेंसी ने आधिकारिक तौर पर इसे 2024 नोटो प्रायद्वीप भूकंप का नाम दिया है। वाजिमा से लगभग 30 किमी पूर्व-उत्तरपूर्व में केंद्रित, विनाशकारी भूकंप की अधिकतम तीव्रता 7 दर्ज की गई, जिससे लोगों के लिए खड़ा होना असंभव हो जाएगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co