नेपाल में बड़ा हादसा: भूस्खलन के कारण 17 लोगों की दर्दनाक मौत
नेपाल में बड़ा हादसा: भूस्खलन के कारण 17 लोगों की दर्दनाक मौतSocial Media

नेपाल में बड़ा हादसा: भूस्खलन के कारण 17 लोगों की दर्दनाक मौत, कई लोग हुए घायल

नेपाल (Nepal) के अछाम जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। खबर है कि, नेपाल में भारी बारिश और बाढ़ के कारण हुए भूस्खलन में दबने से कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई।

काठमांडू, विदेश। नेपाल (Nepal) के अछाम जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। खबर है कि, नेपाल में भारी बारिश और बाढ़ के कारण आम जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। बता दें, नेपाल में शुक्रवार सुबह से लगातार मूसलाधार बारिश होने के कारण रात में हुए भूस्खलन में दबने से कम से कम 17 लोग मारे गये और अन्य पांच लापता हैं। इसकी जानकारी एक स्थानीय अधिकारी ने शनिवार को दी है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, जिले में कल सुबह से लगातार बारिश होने के कारण रात में भूस्खलन हुआ। इस दौरान सुदूर-पश्चिमी नेपाल में जिले के तीन अलग-अलग हिस्सों में भूस्खलन होने से कुछ घर इसकी चपेट में आ गए।

अधिकारी दीपेश रिजाल ने कही यह बात:

नेपाल प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, इस हादसे पर उप मुख्य जिला अधिकारी दीपेश रिजाल ने कहा, "भूस्खलन के कारण सुदूर पश्चिम नेपाल में अछाम जिले के विभिन्न हिस्सों से मृतकों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है। अभी भी 6 लोग लापता हैं।" राहत बचाव का कार्य अभी भी जारी और लापता लोगों की तलाश की जा रही है।

अधिकारी मिन राज आचार्य ने कही यह बात:

जिले के एक अधिकारी मिन राज आचार्य ने कहा, ''बचाव दल ने 17 लोगों के शव बरामद किए हैं और 11 घायलों को घटनास्थल से बचाया है। पांच लापता लोगों की तलाश की जा रही है। उन्होंने कहा कि, बचाव अभियान के लिए सेना और पुलिस को तैनात किया गया है।"

आचार्य ने कहा कि, घायलों में से तीन की हालत गंभीर है और उन्हें पड़ोसी प्रांत में इलाज के लिए एयरलिफ्ट किया गया है। हिमालयी देश होने के कारण नेपाल में मानसून के दौरान भूस्खलन और अचानक बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं की आशंका बनी रहती है।

नेपाल में बड़ा हादसा: भूस्खलन के कारण 17 लोगों की दर्दनाक मौत
ITI के कौशल दीक्षांत समारोह में बोले PM मोदी- सभी युवा मेक इन इंडिया और वोकल फॉर लोकल अभियान के कर्णधार हैं

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co