Pakistan Khyber Pakhtunkhwa Landslide
Pakistan Khyber Pakhtunkhwa Landslide|Social Media
दुनिया

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में भूस्खलन से हुआ बड़ा हादसा

पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वा प्रांत में भूस्खलन के चलते बड़ा हादसा हो गया। इस हादसे में फिलहाल 17 लोगों की मृत्यु होने की पुष्टि हुई है। जबकि 9 लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की खबर है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। दुनियाभर में अलग अलग देश कोरोना से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। ऐसे में आये दिन बड़ी दुर्घटना और हादसे होने से इन देशों के लोग काफी सहमे हुए हैं। इन देशों में पाकिस्तान भी शामिल है। बीते दिनों में पाक बाढ़ आपदा का सामना कर रहा था। वहीं, अब पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वा प्रांत से भूस्खलन के चलते बड़ा हादसा होने की खबर सामने आई है। इस हादसे में फिलहाल 17 लोगों की मृत्यु होने की पुष्टि हुई है। जबकि 9 लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की खबर है।

खैबर-पख्तूनख्वा में भूस्खलन :

दरअसल, पाक के खैबर-पख्तूनख्वा प्रांत के मोहम्मदी जिले के सफी शहर में अफगान सीमा के पास सोमवार को भूस्खलन के चलते बड़ी-बड़ी चट्टानों पर बने घर ढह गए और काफी लोग उसमे दब गए। घटना की खबर मिलते ही बचाव और राहत कार्य करने वाले कर्मचारियों की टीम घटना स्थल पर पहुंची और बचाव-राहत का कार्य शुरू किया। हालांकि, घटना सोमवार कोई हुई थी परन्तु तलाशी और बचाव अभियान मंगलवार को भी जारी रहा। फिलहाल इस घटना में 17 लोगों की जान जाने की खबर सामने आई है।

अधिकारियों ने बताया :

अधिकारियों ने बताया कि, इस इलाके में पहाड़ी से संगमरमर के बड़े-बड़े टुकड़े एक तलहटी पर आ गिरे। जहां 50-60 लोगों की एक नियमित सभा हो रही थी। घटना होते ही मलबे में दबे लोगों को निकालने के लिए आसपास के जिलों से भारी मशीनरी तक बुलाई गई। इस बारे में प्रांतीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (PDMA) के महानिदेशक ने कहा कि, 'पांच एंबुलेंस और एक रिकवरी वाहन को पेशावर से मोहमंद भेजा गया है और PDMA जिला प्रशासन और संबंधित एजेंसियों के साथ निकट संपर्क में है।'

लोगों के मलबे के नीचे फंसे होने की आशंका :

खबरों की मानें तो, इस हादसे के बाद अभी भी दर्जनों लोगों के मलबे के नीचे फंसे होने की आशंका जताई जा रही है, इसके अलावा मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी भी हो सकती है। सेना के जवान बचाव कार्य में लगे हुए हैं। जिला प्रशासन घायल लोगों की मदद में जुटे हैं। बताते चलें, मोहमंद, पाकिस्तान में सात पूर्व अर्ध-स्वायत्त आदिवासी क्षेत्रों में से एक है, जो सिर्फ संगमरमर के भंडार के लिए ही जाना जाता है। संगमरमर की खदान ढहने से इस तरह की घटनाएं यहाँ पहले भी हुई हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co