पाक ने भी तैयार की कोरोना वैक्सीन, नहीं बताया PakVac कितनी है असरदार
पाक ने भी तैयार की कोरोना वैक्सीन, नहीं बताया PakVac कितनी है असरदारSyed Dabeer Hussain - RE

पाक ने भी तैयार की कोरोना वैक्सीन, नहीं बताया PakVac कितनी है असरदार

कुछ देश अभी भी कोरोना वैक्सीन निर्मित करने की रेस में दौड़ रहे हैं। इस रेस को जीतने वाले देशों में अब एक नए देश का नाम जुड़ने से सब हैरान रह गए हैं क्योंकि, यह देश कोई और नहीं बल्कि 'पाकिस्तान' है।

राज एक्सप्रेस। एक तरफ पूरी दुनिया कोरोना की चपेट में बुरी तरह आ चुकी है दुनियाभर में अब तक लगभग 17 करोड़ से ज्यादा लोगों को इस वायरस ने अपने चपेट में ले लिया है। ऐसे में जब तक सभी देश कोरोना से पूरी तरह निजात नहीं पा लेते तब तक सभी देशों के पास कोरोना से लड़ने के लिए 'कोरोना वैक्सीन' एक मात्र हथियार है। आज जहां कई देशों के पास कोरोना की 2 वैक्सीन मौजूद हैं। वहीं, कुछ देश अभी भी कोरोना वैक्सीन निर्मित करने की रेस में दौड़ रहे हैं। इस रेस को जीतने वाले देशों में अब एक नए देश का नाम जुड़ने से सब हैरान रह गए है। क्योंकि, यह देश कोई और नहीं बल्कि 'पाकिस्तान' है।

पाकिस्तान ने तैयार की कोरोना वैक्सीन :

दरअसल, पिछले दिनों खबर सामने आई थी कि, पाकिस्तान अपने द्वारा तैयार की गई कोरोना वैक्सीन का तीसरा ट्रायल कर रहा था। वहीं, पाकिस्तान ने मंगलवार को देश के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (NIH) में आयोजित हुए एक कार्यक्रम के दौरान चीनी कैनसिनो ने पाक की पहली कोरोना वैक्सीन को लॉन्च किया। पाक ने इस वैक्सीन को 'पाकवैक' (PakVac) नाम से लांच किया है। बता दें, पाकिस्तान में निर्मित की गई कोरोना की वैक्सीन चीन की कंपनी कैनसिनो और बीजिंग इंस्टीट्यूट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी द्वारा तैयार की गई है। हालांकि, पाकिस्तान ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है कि, यह कितनी असरदार है। जबकि अन्य देशों द्वारा अपने द्वारा वैक्सीन कितने प्रतिशत कारगर है इसकी जानकारी दी गई है।

पाक PM के विशेष सहायक का कहना :

इस कार्यक्रम में शामिल हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विशेष सहायक फैसल सुल्तान ने PakVac वैक्सीन के स्थानीय उत्पादन को देश के लिए एक मील का पत्थर बताया। उन्होंने आगे कहा कि, 'चीन पाक का एक सच्चा दोस्त है जो हमेशा मुश्किल समय में पाकिस्तान की मदद करता है। कोरोना वायरस के खिलाफ दोनों देशों के बीच वैक्सीन सहयोग ने दुनिया के अन्य देशों के लिए एक उदाहरण पेश किया है। कच्चे माल से वैक्सीन तैयार करना अपने आप में बहुत बड़ी चुनौती थी। आज हमें इस बात का फख्र है कि, हमारी टीम ने तमाम दिक्कतों के बावजूद वैक्सीन तैयार करने में कामयाबी हासिल की है। आज का दिन देश के लिए बहुत अहम है।'

चीनी राजदूत का कहना :

बताते चलें, इस कार्क्रम में पाकिस्तान के योजना और विकास मंत्री असद उमर ने समारोह में स्थानीय स्तर पर किए गए सर्वेक्षण के परिणामों को साझा किया और कहा कि, 'बेहतर गुणवत्ता और प्रभावी परिणामों के लिए कैनसिनो वैक्सीन सहित चीनी टीके देश में पसंदीदा हैं।' वहीं, पाकिस्तान में चीनी राजदूत नोंग रोंग ने कहा कि, 'चीन और पाकिस्तान के बीच वैक्सीन सहयोग कोरोना वैक्सीन के आयात पर निर्भरता को कम करके कोविड -19 से लड़ने में पाकिस्तान के प्रयासों में योगदान देगा। चीन तब तक कोविड -19 के खिलाफ पाकिस्तान की लड़ाई का समर्थन करना जारी रखेगा, जबतक देश पूरी तरह से महामारी पर काबू नहीं पा लेता है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co