#blackout: इमरान खान के 'नए पाकिस्तान' में बत्ती गुल- छाया घना अंधेरा
#blackout: इमरान खान के 'नए पाकिस्तान' में बत्ती गुल- छाया घना अंधेराSocial Media

#blackout: इमरान खान के 'नए पाकिस्तान' में बत्ती गुल- छाया घना अंधेरा

पाकिस्तान में बिजली संकट की समस्या से इस्लामाबाद से कराची तक सभी शहर घने अंधरे में डूबे है और जैसे ही पाकिस्‍तान में बिजली जाने की खबर फैली ट्विटर पर #blackout ट्रेंड करने लगा...

पाकिस्तान। आर्थिक तौर पर बदहाल और कंगाल पाकिस्तान में बिजली संकट की समस्या के बाद यहां बीती रात से जबरदस्त अफरा-तफरी मची। पॉवर सिस्टम के फेल होने की वजह से प्रधानमंत्री इमरान खान का 'नया पाकिस्तान' अंधेरे में डूबा हुआ है।

बत्ती गुल होते ही ट्विटर पर ट्रेंड हुआ ये हैशटैग

पाकिस्तान में बड़ा पावर ब्रेकडाउन से कंगाल पाकिस्तान देश की बत्ती गुल होने की खबर सामने आते ही सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म ट्विटर पर #blackout हैशटैग तेजी से ट्रेंड होने लगा। यूजर्स जमकर पाकिस्तान के ब्लैकआउट का मजाक बना रहे हैं और मीम्स की तो बाढ़ आ गई।

आखिर क्यों अंधेरे में डूबा पूरा पाकिस्तान

जानकारी के अनुसार, शनिवार देर रात करीब 11.41 बजे अचानक पूरे देश में बिजली गुल होने के बाद से पाकिस्तान के सभी प्रमुख शहर और प्रांत कराची, लाहौर, पेशावर, इस्लामाबाद, मुल्तान और रावलपिंडी पूरी तरह घने अंधेरे में डूब गए एवं इन शहरों के लोगों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ा।

तो वहीं, इस पूरे मसले पर पाकिस्तान के ऊर्जा मंत्रालय द्वारा ट्विटर के जरिए जानकारी देते हुए बताया- पावर ट्रांसमिशन सिस्टम की फ्रीक्वेंसी में अचानक 50 से 0 की गिरावट की वजह से देशव्यापी ब्लैकआउट हो गया। रात करीब 11 बजकर 41 मिनट पर कुछ तकनीकी दिक्कत की वजह से पूरे देश में ब्लैकआउट हो गया। इस दौरान मंत्रालय ने लोगों से संयम बरतने की भी अपील की है।

एनटीडीसी के सिस्टम में तकनीकी खामी आई है, सिस्टम को रिस्टोर किया जा रहा है।

पाकिस्तान के सूचना मंत्री शिबली फराज

क्या पहली बार आई पाक में बिजली गुल की समस्या ?

बता दें कि, पूरे पाकिस्तान में ब्लैक आउट की समस्‍या पहली बार नहीं आई है, बल्कि इससे पहले वर्ष 2018 में भी 2 बार पाकिस्तान में पॉवर ब्लैकआउट हो चुका। इसके अलावा बीते 5 साल पहले यानी जनवरी, 2015 में भी जब बलूच आंदोलनकारियों ने पावर ग्रिड पर हमला किया था, तो ऐसे ही पूरे देश की अंधेरा छा गया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co