पाकिस्तान में हिंदू मांग रहे 'गैर-मुस्लिम' का दर्जा, संसद में विधेयक पेश
पाकिस्तान में हिंदू मांग रहे 'गैर-मुस्लिम' का दर्जा, संसद में विधेयक पेशSocial Media

पाकिस्तान में हिंदू मांग रहे 'गैर-मुस्लिम' का दर्जा, संसद में विधेयक पेश

पाकिस्‍तान के 90 लाख हिंदुओं को धार्मिक अल्‍पसंख्‍यक कहने की बजाय 'गैर मुस्लिम' कहने के ल‍िए पाकिस्तान की संसद में विधेयक पेश क‍िया।

पाकिस्‍तान। पड़ोसी देश पाकिस्‍तान से बड़ी खबर सामने आ रही हैं कि, यहां हिंदू धार्मिक अल्‍पसंख्‍यक कहने की बजाय 'गैर-मुस्लिम' का दर्जा मांग रहे हैं और इसके लिए पाकिस्तानी संसद में विधेयक भी पेश हुआ है।

पाकिस्तान के हिंदू सांसद ने पेश किया विधेयक :

बताया गया है कि, नैशनल असेंबली में गैर-सरकारी विधेयक काे विपक्षी दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के हिंदू सांसद कीसो मल कीआल दास ने नेशनल असेंबली प्रक्रिया और कामकाज संचालन नियम, 2007 के नियम 118 के तहत पेश किया है। संविधान संशोधन अधिनियम, 2021 नामक इस विधेयक का मकसद पाकिस्तानी गैर-मुस्लिमों के खिलाफ भेदभाव खत्म करना है, जिन्हें संविधान में अल्पसंख्यक कहा गया है।

इस विधेयक को स्वीकार कर तत्काल प्रभाव से पेश किया जाना चाहिए। सरकार ने विधेयक का विरोध नहीं किया है और मामला संबंधित स्थायी समिति को भेज दिया गया है। सदन की द्विदलीय समिति द्वारा इसकी समीक्षा किए जाने के बाद, इसे मतदान के लिए प्रस्तुत किया जाएगा।

हिंदू सांसद कीसो मल कीआल दास

सांसद कीसो मल कीआल दास ने आगे ये भी कहा- देश की बड़ी आबादी को अल्पसंख्यक घोषित करके उनसे भेदभाव करना संविधान, 1973 की भावना के विरुद्ध है। इस आबादी ने जीवन के हर क्षेत्र और देश के विकास तथा उज्ज्वल भविष्य में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

उन्‍होंने ये भी बताया कि, "(संविधान में) चार बार अल्संख्यक और 15 बार गैर-मुस्लिम शब्द का उपयोग किया गया है, जो संविधान निर्माताओं के आशय को दर्शाता है। लिहाजा, अल्पसंख्यक की जगह गैर-मुस्लिम शब्द का उपयोग कर विसंगति को दूर किया जाना चाहिये। संविधान संशोधन पाकिस्तान में प्रत्येक नागरिक के लिए समानता और न्याय स्थापित करने का एक रचनात्मक प्रयास होगा।"

पाकिस्तान की कुल आबादी :

बता दें कि, पाकिस्तान की कुल 22 करोड़ की आबादी है और पाकिस्तान में हिंदू आबादी का एक बड़ा हिस्सा सिंध प्रांत में बसा हुआ है। पाकिस्तान में गैर-मुस्लिमों की आबादी करीब 3.5% है और यहां हिंदू सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय है। आधिकारिक अनुमान के अनुसार, पाकिस्तान में 75 लाख हिंदू रहते हैं, उनकी आबादी 90 लाख से अधिक है। हालांकि, हिंदुओं के अलावा पाकिस्तान में अन्य अल्पसंख्यकों में ईसाई, अहमदी, बहाई, पारसी और बौद्ध शामिल हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co