President Trump's intention to remove lockdown in America
President Trump's intention to remove lockdown in America|Social Media
दुनिया

राष्ट्रपति ट्रम्प का अमेरिका में लॉकडाउन हटाने का इरादा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इरादे अमेरिका से लॉक डाउन को हटाने के नजर आ रहे हैं। क्योंकि, ट्रंप ने एक बार फिर सबको हैरान कर देने वाला बयान देते हुए अमेरिका को खोलने की बात कही है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। जैसा कि सभी को पता है, भारत सहित पूरी दुनियाभर के देश कोरोनावायरस की मार झेल रहे हैं। सभी देशों की आर्थिक स्थिति बिगड़ती हुई नजर आ रही है। सभी देशों ने कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन लागू कर रखा है। वहीं, इन देशों में अमेरिका भी शामिल है। परंतु अब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इरादे अमेरिका से लॉक डाउन को हटाने के नजर आ रहे हैं। क्योंकि, ट्रंप ने एक बार फिर सबको हैरान कर देने वाला बयान देते हुए अमेरिका को खोलने की बात कही है।

डोनाल्ड ट्रंप का बयान :

दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि, "कोरोना की वैक्सीन तैयार हो या ना हो अमेरिका फिर से खुलेगा।" हालांकि, साथ ही उन्होंने इस साल के अंत तक कोरोना की वैक्सीन तैयार करने का अपना लक्ष्य भी बताया है। शनिवार को सामने आए एक बयान में उन्होंने वैक्सीन प्रोजेक्ट ऑपरेशन 12 फीट की तुलना द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान दुनिया के पहले परमाणु हथियार को बनाने के प्रयोगों से की है।

फिलहाल खबरों के अनुसार, यह कहा जा सकता है कि, बिना वैक्सीन तैयार हुए ही अमेरिकावासी अपने जीवन में सामान्य रूप से वापस लौटना शुरू करेंगे। अमेरिका की कई विशेषज्ञों का मानना है कि, वैक्सीन 1 साल की अवधि के दौरान तैयार की जा सकती है।

कंपनी की साझेदारी की बात :

अपने बयान में डोनाल्ड ट्रंप ने एक वैक्सीन को ढूंढ निकालने और इसके वितरण करने के लिए सरकारी और प्राइवेट क्षेत्र के बीच साझेदारी करने की बात भी की है। साथ ही उन्होंने इस ऑपरेशन के लिए सेना के एक जनरल और एक पूर्व हेल्थ केयर एग्जीक्यूटिव का नाम भी बताया। बताते चलें इससे पहले फार्माक्यूटिकल दिग्गज गैलेक्सों स्मिथ क्लाइन में वैक्सीन डिवीजन का नेतृत्व करने चुके मोनसैफ सलोई इस मिशन की देखरेख करेंगे। वहीं, अमेरिका की सेना के लिए वितरण करने के कार्य की देखरेख करने वाले जनरल गुस्ताव पर्ना चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर के रूप में काम करेंगे।

वैक्सीन डिवीजन का नेतृत्व करने वाले मोनसैफ सलोई का कहना :

वैक्सीन डिवीजन के नेतृत्व करने वाले मोनसैफ सलोई का कहना है कि उन्हें पूरा भरोसा है कि, 2020 तक वैक्सीन की कुछ हजार मिलियन डोज तैयार होकर अनेक जगह वितरित कर दी जा चुकी होंगी।

गौरतलब है कि, पूरी दुनिया भर में कोरोनावायरस के अब तक लाखों की संख्या में मामले सामने आ चुके हैं। इसमें से लगभग 3 लाख लोगों की मौत भी हो चुकी है और अभी तक किसी भी देश के पास कोरोना का इलाज नहीं है। बताते चलें, कोरोनावायरस की चपेट में सबसे बड़े स्तर पर आने वाले देशों में अमेरिका भी है और भारत की स्थिति फिलहाल अन्य देशों की तुलना में ठीक है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co