चीन के शीआन में 2 साल बाद फिर लगा लॉकडाउन, दर्जनों अधिकारियों को दी गई सजा
चीन में दर्जनों अधिकारियों को दी गई सजाSyed Dabeer Hussain - RE

चीन के शीआन में 2 साल बाद फिर लगा लॉकडाउन, दर्जनों अधिकारियों को दी गई सजा

चीन के शीआन (Xi'an) में साल 2019 के 2 साल बाद एक बार फिर से लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। वहीं, यहां कड़ी कार्रवाई के तहत कोरोना फैलाने पर दर्जनों अधिकारियों को सजा दी गई।

चीन, दुनिया। अब एक बार फिर पूरी दुनिया में कोरोना के नए Omicron वेरिएंट का प्रकोप ठीक उसी तरह बढ़ता दिख रहा है, जिस प्रकार कोरोना के अन्य वेरिएंट्स का प्रकोप बढ़ता दिखा था। हालांकि, इससे बचने के सबसे अच्छा उपाय सावधानी से घर में रहना ही है, जहां लोग घरों से बाहर निकलते हैं और भीड़ लगाते हैं वहां कोरोना और नए वेरिएंट का खतरा बढ़ जाता है। वहीं, अब चीन के शीआन (Xi'an) में साल 2019 के बाद 2 साल बाद एक बार फिरसे लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। वहीं, यहां कड़ी कार्रवाई के तहत कोरोना फैलाने पर दर्जनों अधिकारियों को सजा दी गई।

अधिकारियों को दी सजा :

दरअसल, चीन में एक बार कोरोना के मामले दर्ज हुए हैं। वहीं, चीन के शहर शीआन (Xi'an) में दो साल बाद एक बार फिर कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता नजर आरहा है। जिसके चलते यहां एक बार फिर लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। इसे विश्व का बहुत बड़ा लॉकडाउन माना जा रहा है। इतना ही नहीं इसका पालन भी कड़ाई से किया जा रहा है। नियमों का उल्लंघन करने वाले या कोरोना संक्रमण को लेकर सावधानी न बरतने वाले लोगों को सजा का प्रावधान भी रखा गया है। इसी कड़ी में यहाँ दर्जनों अधिकारियों को दंडित किया गया है। इस मामले में जानकारी शुक्रवार को चीन के अनुशासनात्मक निकाय (China's Disciplinary Body) ने दी है।

चीन के अनुशासनात्मक निकाय ने दी जानकारी :

चीन के अनुशासनात्मक निकाय ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए बताया है कि, बीजिंग के सख्त जीरो कोविड की नीति के तहत अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। क्योंकि, चीन में साल 2019 के आखिर में कोरोना वायरस के मामले सामने आए थे, लेकिन अब एक बार फिर यहां कोरोना का खतरा बढ़ रहा है और फरवरी 2022 में चीन की राजधानी बीजिंग (Beijing) में शीतकालीन ओलंपिक (Winter Olympics) का आयोजन किया जाना है। ऐसे में कई शहरों से कोरोना के नए मामले मिलने के बाद चीन हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

सबसे ज्यादा आबादी वाला देश :

बताते चलें, चीन दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाला देश माना जाता है। हालांकि, यहां कोरोना के मामले काफी कम सामने आए हैं। इसका मुख्य कारण यह है कि, चीन में शुरुआत से ही जीरो कोविड नीति के लागू कर दी गई थी। इस नीति के तहत सीमा प्रतिबंध, बोझिल क्वारन्टीन और टागटेडेट लॉकडाउन किया जाता है, लेकिन हाल ही के दिनों में चीन में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं। इन्हीं मामलों के चलते ही शीआन में गुरुवार को लॉकडाउन लागू कर दिया गया था। साथ ही लोगों को घरों में रहने के आदेश दिए गए हैं। इसके अलावा व्यवसाय को बंद करने को भी कहा गया हैं। यहां कोरोना की टेस्टिंग भी लगातार की जा रही है।

सेंट्रल कमीशन फॉर डिसिप्लिन इंस्पेक्‍शन का कहना :

सेंट्रल कमीशन फॉर डिसिप्लिन इंस्पेक्‍शन द्वारा आज शुक्रवार को कहा गया कि, '26 अधिकारियों को कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने में अपर्याप्त सख्‍ती बरतने के लिए दंडित किया गया। शहर शीआन में शुक्रवार को कोरोना के 49 नए मामले दर्ज किए गए। इसके साथ ही हाल के सप्‍ताह में यहां कोरोना के मामले बढ़कर 250 से ज्यादा हो गए हैं। चीन ने कोरोना वायरस को लेकर सख्‍त नीति बनाई है। इसके प्रकोप को रोकने में नाकाम रहने वाले अधिकारियों को नियमित तौर पर बर्खास्त किया जाता है या फटकार लगाई जाती है। निरीक्षण के दौरान पता चला कि टेस्टिंग को लेकर ढीला रवैया अपनाया गया।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co