रूस: 20 सालों से सत्‍ता पर राज करने वाले पुतिन छोड़ सकते हैं राष्ट्रपति पद

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सत्‍ता छोड़ने की अटकलें तेज हो गई हैं, वे एक गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं और अपनी गर्लफ्रेंड और बेटियों के कहने पर अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं।
रूस: 20 सालों से सत्‍ता पर राज करने वाले पुतिन छोड़ सकते हैं राष्ट्रपति पद
रूस: 20 सालों से सत्‍ता पर राज करने वाले पुतिन छोड़ सकते है राष्ट्रपति पदSocial Media

रूस: हाल ही में रूस से बड़ी खबर सामने आई है कि, रूस की राजनीति में नंबर-1 पोजिशन पर काबिज रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (68 वर्षीय) जो पिछले करीब 20 सालों से रूस की सत्‍ता पर राज कर रहे थे, अब वे अपने राष्‍ट्रपति पद से इस्‍तीफा देने वाले हैं। ये बात के सामने आते ही रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सत्‍ता छोड़ने की अटकलें तेज हो गई हैं।

अगले साल छोड़ सकते हैं रूस की सत्ता :

जानकारी के अनुसार, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन अगले साल यानी 2021 में राष्ट्रपति का पद छोड़ देने की संभावना है। इस बारे में एक रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि, उनके इस्तीफे देने की वजह ये है कि, वे गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। तो वहीं, पुतिन द्वारा जनवरी में ही अपने हैंडओवर प्लान को सार्वजनिक करने का इरादा जताया था।

गर्लफ्रेंड व बेटियों की इस्तीफा देने की अपील :

सूत्रों हवाले से सामने आई जानकारी के मुताबिक, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की गर्लफ्रेंड जिमनास्ट अलीना कबाइवा और उनकी दो बेटियों ने उनसे इस्तीफा देने की अपील की है।मॉस्को के राजनीतिक वैज्ञानिक वेलेरी सोलोवी ने द सन को बताया- रूसी राष्ट्रपति की 37 वर्षीय प्रेमिका, अलीना काबेवा और उनकी दो बेटियां उन्हें पद छोड़ने के लिए प्रेरित कर रही हैं, रूसी राष्ट्रपति पुतिन पर उनके परिवार का बेहद प्रभाव है। उनके परिजन चाहते हैं कि वो अपना पद छोड़ दें, ताकि अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दे सकें।

इस गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं राष्ट्रपति पुतिन :

वेलेरी सोलोवी द्वारा यह दावा भी किया गया है कि, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन 'पार्किंसन बीमारी' से पीड़ित हो सकते हैं, हाल ही में उनमें इस बीमारी के लक्षण नजर आए थे। सन की रिपोर्ट में कहा गया- राष्ट्रपति पुतिन हाल ही में पैरों के लगातार कांपने की समस्या से जूझते हुए नजर आए थे, जो इस बीमारी का लक्षण है। उनकी उंगलियों में भी समस्या है जो फुटेज में भी दिखाई दे रहा था।

जानकारी के लिए बताते चलें, व्लादिमीर पुतिन ने पहली बार वर्ष 2000 में 7 मई को रूस के 'राष्ट्रपति पद' की कमान संभाली थी और वो रूस के प्रधानमंत्री भी रह चुके हैं। वहीं, अब व्लादिमीर पुतिन के पद छोड़ने की अटकलें ऐसे वक्‍त सामने आई, जब रूसी विधायक राष्ट्रपति द्वारा प्रस्तावित कानून पर विचार कर रहे हैं जो पूर्व राष्ट्रपतियों को आपराधिक अभियोजन से जीवन भर की प्रतिरक्षा प्रदान करेगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co