Swine flu virus found in China
Swine flu virus found in China|Social Media
दुनिया

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच चीन से आई नए फ्लू के फैलने की खबर

पूरी दुनिया से फिलहाल कोरोना का खतरा अभी टला भी नहीं है और वहीं अब चीन से एक और जानलेवा बीमारी स्वाइन फ्लू के फैलने की खबर सामने आ गई है। इस बारे में जानकारी चीन के शोधकर्ताओं ने स्वयं दी है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। पूरी दुनियाभर के देश वर्तमान में चीन से फैलना शुरू हुई महामारी कोरोना वायरस से लगातार जंग लड़ रहे है। पूरी दुनियाभर में कोरोना के मरीज का आंकड़ा 10 लाख के पार पहुंच गया है। इसके अलावा लाखों लोगों की जान भी इसके चलते जा चुकी है। पूरी दुनिया से फिलहाल कोरोना (कोविड-19) का खतरा अभी टला भी नहीं है और वहीं अब चीन से एक और जानलेवा बीमारी स्वाइन फ्लू के फैलने की खबर सामने आ गई है। इस बारे में जानकारी चीन के शोधकर्ताओं ने स्वयं दी है।

चीन में स्वाइन फ्लू की दहशत :

दरअसल, चीन में स्वाइन फ्लू बीमारी के फैलने से दहशत फेल गई है क्योंकि, यह बीमारी वर्तमान समय में कोरोना महामारी के चलते और गंभीर हो सकती है। स्वाइन फ्लू से मुसीबत और अधिक बढ़ती नजर आ रही है। बाबते चलें, इस मामले में चीन ने बताया है कि, वह चीन देश में सूअरों के अंदर नए फ्लू को फैलने से रोकने के कई प्रयास कर रहे है। उन्होंने बताया इस फ्लू की पहचान वैज्ञानिकों द्वारा की गई है। वैज्ञानिकों का कहना है कि, इस फ्लू की रोकथाम नहीं की गई तो यह महामारी का रूप भी ले सकता है।

WHO के निर्देश :

बताते चलें, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा चीन को निर्देश दिए है कि, वह इस मामले की कड़ी निगरानी करे और कोरोना जैसी महामारी का रूप ले सकने वाली इस बीमारी फ्लू को रोके। वहीं, इस मामले में जॉन हॉप्किंस विश्वविद्यालय का कहना है कि, चीन ही वो पहला देश है जहां साल 2019 के दिसंबर में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण का पहला मामला सामने आया था। जिसने एक-एक देश करके पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है।

वैज्ञानिकों की चेतावनी :

बताते चलें, चीन में फेल रहे इस फ्लू से जुड़ी जानकारी सामने आने से पहले ही चीन के अनुसंधानकर्ता ने ये चेतावनी जारी कर दी थी कि, कोरोना के महामारी का रूप ले लेने के बाद अब यह सूअरों से फैलने वाला फ्लू या इंफ्लूएंजा भी बड़ी महामारी में बदल सकता है। ग्लोबल टाइम्स की मानें तो, चीन के कृषि विश्वविद्यालय, चीनी रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केन्द्र और अन्य प्रतिष्ठानों के वैज्ञानिकों की तरफ से सावधान रहने की चेतावनी दी गई है।

वैज्ञानिकों का मानना :

दरअसल चीन के वैज्ञानिकों ने पाया है कि, सूअरों में जीनोटाइप 4 (G4) संक्रामक पाया गया है और यह मनुष्यों में भी फैल सकता है। यानि मनुष्यों को इससे खतरा है। क्योंकि, G4 में इतनी क्षमता होती है कि वो मनुष्यों की कोशिकाओं के साथ मिल सके। बताते चलें, चीन से इस फ्लू के फैलने की खबर ऐसे समय में सामने आई है, जब चीन देश में पहले से ही कोरोना से संक्रमित के मरीजों का आंकड़ा 83,531 और कोरोना से मरने वालो 4,634 तक पहुंच चुका है। वहीं, दुनियाभर में कोरोना से संकर्मित मरीजों का आंकड़ा 10,424,992 पहुंच चूका हैं जबकि, मरने वालोँ की संख्या 509,706 पहुंच गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co