अफगानिस्तान में तालिबानियों की हुकूमत- अब पंजशीर में कब्जे का दावा
अफगानिस्तान में तालिबानियों की हुकूमत- अब पंजशीर में कब्जे का दावाSyed Dabeer Hussain - RE

अफगानिस्तान में तालिबानियों की हुकूमत- अब पंजशीर में कब्जे का दावा

अफगानिस्‍तान में तालिबानी हुकूमत, अब बचे कुचे एक इलाके विद्रोहियों के गढ़ पंजशीर घाटी को भी तालिबान आतंकियों ने अपने कब्‍जा में ले लिया और गवर्नर कार्यालय के बाहर झंडा फहराया...

अफगानिस्‍तान। अफगानिस्‍तान में तालिबान हुकूमत के चलते देश के हालत बद से बदतर होते जा रहे हैं और अब पूरे अफगानिस्तान तालिबान के कब्जे में आ गया है। दरअसल, अफगानिस्तान का एक इलाका ऐसा भी था, जहां तालिबानी ने कब्जा नहीं किया, लेकिन अब यह खबर सामने आ रही है कि, अफगानिस्‍तान में तालिबान आतंकियों ने विद्रोहियों के गढ़ पंजशीर घाटी को भी अपने कब्‍जा में ले लिया है।

तालिबान का दावा पंजशीर पर पूरी तरह से कर लिया कब्‍जा :

अफगानिस्‍तान में विद्रोहियों के गढ़ पंजशीर घाटी पर तालिबान आतंकियों ने पूरी तरह से कब्‍जा करने का दावा किया है, साथ ही तालिबानियों ने पंजशीर प्रांत के गवर्नर कार्यालय के बाहर अपना झंडा भी फहरा दिया है, जिसकी तस्‍वीर भी जारी की गई है। बताया जा रहा है कि, तालिबानी आतंकियों कई दिनों से चल रही घेरेबंदी के बाद रविवार रात को जोरदार हमला किया और पंजशीर के विद्रोहियों के किले को भी ध्‍वस्‍त कर दिया। इस तालिबानी-पाकिस्‍तानी हमले में ताजिक मूल के विद्रोही नेता अहमद मसूद को बड़ा झटका लगा है और उनके प्रवक्‍ता फहीम दश्‍ती और शीर्ष कमांडर जनरल साहिब अब्‍दुल वदूद झोर की मौत हो गई।

आखिरी किला भी फतह कर लिया :

तालिबानी प्रवक्ता जबीउल्ला मुजाहिद ने कहा- अफगानिस्तान में तालिबान के विरोध का आखिरी किला भी फतह कर लिया गया है। आखिरकार देश जंग के भंवर से बाहर आ गया है। अल्लाह की अता से और देश के लोगों के समर्थन से देश को सुरक्षित करने की हमारी कोशिशें रंग लाई हैं।

विद्रोही नेशनल रेजिस्‍टेंस फोर्स ने तालिबान के दावे को गलत बताया :

तो वहीं, तालिबान के इस दावे को विद्रोही नेशनल रेजिस्‍टेंस फोर्स ने गलत बताया और कहा है कि, ''अभी जंग जारी है। इस बीच पंजशीर में विद्र‍ोहियों के नेता अहमद मसूद सुरक्षित स्‍थान पर चले गए हैं। उन्‍होंने कहा है कि, तालिबानी उनसे नहीं लड़ रहे हैं, बल्कि पाकिस्‍तानी सेना और आईएसआई यह जंग लड़ रहे हैं।'' इधर मसूद के सुरक्षित स्‍थान पर चले जाने के बाद तालिबान ने इस बारे में आज सोमवार सुबह ही दावा किया कि, ''उन्‍होंने पंजशीर पर पूरी तरह से कब्‍जा कर लिया है।''

बता दें कि 15 अगस्त को काबुल पर कब्जे के बाद से अब तक पंजशीर ही अफगानिस्तान का अकेला प्रांत था, जो तालिबान के नियंत्रण में नहीं था। इस बीच अब यह खबरे सामने आ रही कि, हजारों तालिबानी लड़ाकों ने पंजशीर के जिलों पर कब्जा कर लिया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co