भारत-चीन सीमा पर तनाव बढ़ा, सीमा रेखा पर सैनिकों की भारी तैनाती
भारत-चीन सीमा पर तनाव बढ़ा, सीमा रेखा पर सैनिकों की भारी तैनातीSocial Media

भारत-चीन सीमा पर तनाव बढ़ा, सीमा रेखा पर सैनिकों की भारी तैनाती

एशिया के दो प्रमुख देश भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव बढ़ता जा रहा है। दोनों तरफ से सीमा पर सेना बल की तैनाती कर दी गई है।

राज एक्सप्रेस। भारत चीन सीमा पर लगातार तनाव बढ़ा रहे चीन का भारत ने डटकर मुकाबला करने की तैयारी की है। सेना को सीमा पर चल रहे निर्माण कार्य को जारी रखने का निर्देश दिया गया है। भारत और चीन के वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीनी सैनिकों की बढ़ती गतिविधियों से ये साफ है कि चीन भारत भारत के निर्माण कार्य से खुश नहीं है।

दूसरी ओर भारत भी निर्माण कार्यों से पीछे हटने को तैयार नहीं है इसी कारण सीमा पर तनाव बढ़ता जा रहा है।भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के शीर्ष सैन्य नेतृत्व के साथ पूरे हालात की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल, चीफ आफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत व तीनों सेनाओं के प्रमुख मौजूद रहे। प्रधानमंत्री की तरफ से बुलाई गई इस तरह की पहली बैठक से यह साफ हो गया है कि सैन्य बल के सहारे दबाब बनाने की चीन की रणनीति को नाकाम किया जाएगा।

आखिर क्या है विवाद का कारण

चीन अब तक सीमाई इलाकों में तेजी से इन्फ्रास्ट्रक्चर का विकास और विस्तार करता आया है। दूसरी तरफ भारत भी अब बॉर्डर इन्फ्रास्ट्रक्चर पर जोर दे रहा है और सड़क व एयरबेस जैसी कई रणनीतिक परियोजनाओं पर काम कर रहा है। फॉरवर्ड एरिया में सैनिकों और युद्धसामग्री की तेजी से मूवमेंट सुनिश्चित करने के लिए पिछले कुछ सालों से भारत ने बॉर्डर इन्फ्रास्ट्रक्चर पर धीरे-धीरे लेकिन लगातार सुधार किया है। ये बात चीन को रास नहीं आ रही। और इसी कारण सीमा पर तनाव बढ़ रहा है।

चीनी राष्ट्रपति ने दिए युद्ध के संकेत

मीडिया रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के अनुसार अब इस विवाद पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सबसे खराब स्थिति के बारे में सोचते हुए अपनी सेना को युद्ध की तैयारियां तेज करने का आदेश दे दिया। उन्होंने चीनी सेना से कहा है कि वह पूरी दृढ़ता के साथ देश की संप्रभुता की रक्षा करें। वहीं, इस विवाद पर भारत ने भी कड़ा रुख अपना लिया है। भारत ने भी पूर्वी लद्दाख में चीन द्वारा लगातार माहौल खराब करने की कोशिश के बावजूद चीन-भारत सीमा के साथ रणनीतिक क्षेत्रों में बुनियादी ढांचा विकास परियोजनाओं को नहीं रोका है। अब दोनों देशों के इसी रूख से तनाव शांत होने का नाम नहीं ले रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co