ऑस्ट्रेलिया में बूस्टर डोज लगवाने की चाह बढ़ी

ऑस्ट्रेलिया में हाल ही में इस पर किए गए एक सर्वेक्षण में यह पता चला कि 70 फीसदी से अधिक ऑस्ट्रेलियाई नागरिक बूस्टर डोज लगवाने के इच्छुक हैं।
ऑस्ट्रेलिया में बूस्टर डोज लगवाने की चाह बढ़ी
ऑस्ट्रेलिया में बूस्टर डोज लगवाने की चाह बढ़ीSocial Media

कैनबरा। ऑस्ट्रेलिया (Australia) में हाल ही में इस पर किए गए एक सर्वेक्षण में यह पता चला कि 70 फीसदी से अधिक ऑस्ट्रेलियाई नागरिक बूस्टर डोज (Booster Dose) लगवाने के इच्छुक हैं। दुनिया में कोरोना (Corona) महामारी के नए खतरनाक वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) की दहशत बढ़ती जा रही है। जिसे लेकर लोगों में इसका इतना खौफ है कि खुद को पूर्ण रूप से टीकाकृत और सुरक्षा के अन्य उपायों को अपनाना उन्हें अब नाकाफी लग रहा है।

ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी (एएनयू) के शोधकर्ताओं ने गुरुवार को 3,400 से अधिक लोगों पर जारी अपने सर्वेक्षण के हालिया निष्कर्ष प्रकाशित किए। इसमें पाया गया कि 71.09 फीसदी लोग बूस्टर डोज (Booster Dose) उपलब्ध होने पर उसे लगवाने की इच्छा जाहिर की है। सर्वेक्षण में हालांकि इस बात का खुलासा नहीं किया गया कि ऐसे कितने लोग हैं, जो बूस्टर डोज (Booster Dose) लगवाने से हिचकिचा रहे हैं।

गौरतलब है कि बूस्टर डोज (Booster Dose) फिलहाल 18 साल या उससे अधिक उम्र के उन ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों के लिए उपलब्ध है, जिन्हें कोरोना (Corona) की दोनों डोज लग चुकी हैं। स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, बुधवार तक 16 साल या उससे अधिक उम्र के 93.1 फीसदी नागरिकों को टीके का पहला डोज लग चुकी है, जबकि 88.7 फीसदी पात्र लोग दोनों कोरोना (Corona) की डोज ले चुके हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co