ब्रिटेन सरकार ने ईंधन संकट से निपटने के लिए तेल उद्योग को किया 'कम्पटीशन एक्ट' से बाहर
ब्रिटेन सरकार ने ईंधन संकट से निपटने के लिए तेल उद्योग को किया 'कॉम्पटीशन एक्ट' से बाहरSocial Media

ब्रिटेन सरकार ने ईंधन संकट से निपटने के लिए तेल उद्योग को किया 'कम्पटीशन एक्ट' से बाहर

ब्रिटेन सरकार ने गैस स्टेशनों में ईंधन की आपूर्ति में आ रही बाधा को कम करने के लिए तेल उद्योग को कॉम्पटीशन एक्ट-1998 से अस्थायी रूप से बाहर करने का निर्णय लिया है।

लंदन। ब्रिटेन सरकार ने गैस स्टेशनों में ईंधन की आपूर्ति में आ रही बाधा को कम करने के लिए तेल उद्योग को कॉम्पटीशन एक्ट-1998 से अस्थायी रूप से बाहर करने का निर्णय लिया है। व्यापार, ऊर्जा एवं औद्योगिक रणनीति विभाग ने यहां एक बयान जारी कर बताया कि व्यापार सचिव क्वासी क्वार्टेंग ने सूचनाएं साझा करने और ईंधन की आपूर्ति को सुचारू करने के मकसद से आज ईंधन उद्योग को कॉम्पटीशन एक्ट 1998 से अस्थायी रूप से बाहर करने पर सहमति व्यक्त की।

ब्रिटेन में ट्रक चालकों की कमी के बीच माल और ईंधन की भी कमी देखी जा रही है। गौरतलब है कि कॉम्पटीशन एक्ट-1998 प्रतिस्पर्धा की रक्षा करता है और बाजार में शीर्ष पर मौजूद कंपनियों को अपनी स्थिति का दुरुपयोग करने से रोकता है। श्री क्वार्टेंग ने ईंधन उद्योग के कई वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की और आपूर्ति श्रृंखला पर दबाव और स्थानीय मांग में वृद्धि के कारण सामने आ रही समस्याओं पर चर्चा की।

उन्होंने कहा, ''रिफाइनरियों और टर्मिनलों के पास हमेशा से बहुत अधिक ईंधन रहा है और अब भी है, लिहाजा हम जानते हैं कि समस्याएं आपूर्ति श्रृंखलाओं में हैं। यही कारण है कि हम 'डाउनस्ट्रीम ऑयल प्रोटोकॉल' को लागू करेंगे ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आपूर्ति में आ रही बाधाओं को कम करने के लिए उद्योग महत्वपूर्ण जानकारी साझा कर सकें और प्रभावी ढंग से काम कर सकें।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.