Pfizer-BioNTech वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश UK-अगले वीक से टीकाकरण
Pfizer-BioNTech वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश UK-अगले वीक से टीकाकरणSocial Media

Pfizer-BioNTech वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश UK-अगले वीक से टीकाकरण

कोरोना वैक्सीन पर बड़ी खुशखबरी, ब्रिटेन Pfizer-BioNTech वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश बन गया है। अब ब्रिटेन में अगले हफ्ते से उपलब्ध होगी फाइजर की वैक्सीन लोगों को लगाने के लिए उपलब्ध होगी।

ब्रिटेन। दुनियाभर के देश महामारी कोरोना वायरस के काल में घिरे हुए हैं और ये प्राणघातक वायरस अपना संक्रमण कम नहीं कर बल्कि लगातार बढ़ाता ही जा रहा है। इस बीच अब सभी देश को जल्‍द ही इस महामारी से छुटकारा पाने के लिए कोरोना वैक्सीन का इंतजार खत्म होने की कगार पर है, क्‍योंकि आज 2 दिसंबर को कोरोना वैक्सीन पर बड़ी खुशखबरी सामने आई है कि, ब्रिटेन में फाइजर/बायोएनटेक (Pfizer-BioNTech) की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है।

ब्रिटेन कोरोना वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश :

Pfizer-BioNTech वैक्सीन को इस्तेमाल की मंजूरी देने वाला ब्रिटेन पहला देश बन गया है। जी हां, ब्रिटेन ऐसा पहला पश्चिमी देश है, जिसने खतरनाक वायरस कोविड-19 के लिए किसी वैक्सीन को लाइसेंस दिया है। ब्रिटेन सरकार ने ब्रिटिश नियामक, मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी (MHRA) की सिफारिश को मानते हुए वैक्सीन को मंजूरी दी है। MHRA का कहना है कि, फाइजर की वैक्सीन कोरोना पीड़ितों को दिए जाने के लिए सुरक्षित है।

अगले हफ्ते से टीकाकरण शुरू :

तो वहीं, अब फाइजर/बायोएनटेक की वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद अब अगले हफ्ते से ब्रिटेन में शुरू हो जाएगा और ये वैक्सीन लोगों को लगाने के लिए भी उपलब्ध हो जाएंगी, इसके लिए UK अथॉरिटी ने मंजूरी दे दी है। यह वैक्सीन संक्रमण को रोकने में 95% से अधिक प्रभावी पाई गई है।

ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री ने बताया :

ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक (Matt Hancock) ने ट्वीट कर बताया- MHRA ने औपचारिक रूप से कोविड-19 के लिए फाइजर/बायोटेक की वैक्सीन को अधिकृत किया है। एनएचएस टीकाकरण जल्द शुरू करने के लिए तैयार है। ब्रिटेन दुनिया का पहला देश है, जिसने आपूर्ति के लिए चिकित्सकीय रूप से मंजूरी दी है।

सबसे असरदार है ये वैक्‍सीन :

जानकारी के लिए बताते चलें कि, प्रसिद्ध और प्रमुख अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर और जर्मन कंपनी बायोएनटेक ने साथ मिलकर घातक वायरस कोरोना की वैक्‍सीन तैयार की है और तीसरे फेज के ट्रायल में 95% तक असरदार रही। ट्रायल के नतीजों के आधार पर यह अबतक की सबसे असरदार वैक्‍सीन है। हालांकि, फाइजर की वैक्‍सीन को 0 से भी कम तापमान (-70 डिग्री सेल्सियस) पर स्‍टोर करना पड़ता है, जो इसकी सबसे बड़ी खामी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co