बकिंघम पैलेस पर छाया कोरोना का साया
बकिंघम पैलेस पर छाया कोरोना का साया|Social Media
दुनिया

बकिंघम पैलेस पर छाया कोरोना का साया, महारानी ने छोड़ा राजमहल

कोरोना वायरस के डर से ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को बकिंघम पैलेस से विंडसर कैसल में शिफ्ट किया गया है।

Sudha Choubey

Sudha Choubey

राज एक्सप्रेस। ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने बकिंघम पैलेस छोड़ दिया है और उन्हें विंडसर कैसल ले जाया गया है। इसके पीछे योजना है कि, यदि देश में कोरोना वायरस का प्रकोप हो गया, तो उन्हें और प्रिंस फिलिप को सेंड्रिंघम में अलग रखा जा सके। यह जानकारी रविवार को सामने आई।

सूत्रों ने बताया :

शाही परिवार के सूत्र ने सन न्यूजपेपर को बताया कि, उन्हें विंडसर ले जाया गया है। उनकी सेहत अच्छी है, लेकिन सोचा गया कि उन्हें वहां से हटाना ही ठीक होगा। उनका स्टॉफ कोरोना वायरस को लेकर घबराया हुआ है। सूत्रों ने बताया, पैलेस दुनिया भर से आने वाले नेताओं की लगातार मेजबानी करता रहता है।

कई लोगों से की मुलाकात महारानी ने :

महारानी ने हाल ही में कई लोगों से मुलाकात भी की थी। उनके 94वें जन्मदिन में कुछ ही हफ्ते रह गए हैं और सलाहकारों का मानना है कि, उन्हें कोई नुकसान न पहुंचे, इसलिए उन्हें यहां से स्थानांतरित करना ही बेहतर है। बकिंघम पैलेस एक खतरनाक जगह हो सकती है, क्योंकि यह लंदन के बीच में स्थित है और इसमें बाकी जगहों की तुलना में ज्यादा स्टॉफ है।

कोरोना वायरस से कई लोगों की मौत :

आपको बता दें कि, महारानी ने यह कदम देश में कोरोना वायरस से करीब 21 लोगों की मौतों के बीच 70 साल से अधिक उम्र के लोगों को पृथक रखने जैसी योजना के बीच उठाया है। आने वाले हफ्तों में 93 वर्षीय महारानी और 98 वर्षीय उनके पति प्रिंस फिलिप को नॉरफॉल्क स्थित शाही सैंड्रिंघम एस्टेट में पृथक रखे जाने की संभावना है।

ब्रिटेन 1,140 से अधिक लोगों के संक्रमित होने के बाद कड़े कदम उठा रहा है। बकिंघम पैलेस ने महारानी के कार्यक्रमों को रद्द करने की जानकारी देने के लिए जारी विज्ञप्ति में कहा, "उचित सलाह के आधार पर अन्य कार्यक्रमों की भी समीक्षा की जा रही है।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।

Raj Express
www.rajexpress.co