अमेरिका का चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने पर गंभीरतापूर्वक विचार
अमेरिका का चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने पर गंभीरतापूर्वक विचार|Social Media
दुनिया

अमेरिका का चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने पर गंभीरतापूर्वक विचार

अमेरिका भी भारत की राह पर चलते हुए टिकटॉक समेत चीनी मोबाइल ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने पर गंभीरतापूर्वक विचार कर रहा है, इस बारे में अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो का बयान सामने आया है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

अमेरिका। कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहे दुनिया भर के तमाम देश अब चीन से ऊब चुके हैं और उसके खिलाफ सख्त रुख अपना रहे हैं। अब भारत की राह पर चलते हुए अमेरिका भी टिकटॉक समेत चीनी मोबाइल ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने पर गंभीरतापूर्वक विचार कर रहा है।

जी हां, भारत में चीन के अधिकांश मोबाइल ऐप्स पर लगाए गए प्रतिबंध के बाद अब अमेरिका भी बैन लगाने की तैयारी में जुटा हुआ है और इस बारे में अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो का बयान सामने आया है।

अमेरिकी विदेश मंत्री का कहना :

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने सोमवार देर रात इस संबंध में ऐलान केते हुए कहा कि, हम निश्चित रूप से चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं। दरअसल, सोमवार को अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने यह बात एक इंटरव्यू के दौरान बताया है। उन्होंने कहा कि, अमेरिका में भी बहुचर्चित ऐप TikTok के साथ ही लगभग सभी चाइनीज ऐप्स को प्रतिबंधित करने को लेकर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। इस मामले जो अंतिम फैसला राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प लेंगे वहीं मान्य होगा। हालांकि, मैं यह बात पूरे दावे से कह सकता हूँ कि, चीनी ऐप्स बैन करने के मुद्दे पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है।

ऑस्ट्रेलिया भी कर रहा विचार :

अमेरिका के अलावा ऑस्‍ट्रेलिया में भी चीन के मोबाइल ऐप्स पर प्रतिबंध किये जाने का विचार किया जा रहा है और यहाँ चीन के एप प्रतिबंध की मांग तेज होती जा रही है। हालांकि, भारत पहले ही चीन के एप पर बैन लगा चुका है, जिससे चीनी कंपनी को करीब 6 अरब डॉलर का नुकसान हो सकता है। बताते चलें, चीन और भारत के बीच चल रहे तनाव और विवाद को मद्देनजर रखते हुए भारत सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए 59 चाइनीज ऐप्स को बैन कर दिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co