लद्दाख गलवान घाटी में झड़प पर US अखबार का बड़ा खुलासा- 60 चीनी सैनिक की मौत
लद्दाख गलवान घाटी में झड़प पर US अखबार का बड़ा खुलासा- 60 चीनी सैनिक की मौत|Social Media
दुनिया

लद्दाख गलवान घाटी में झड़प पर US अखबार का बड़ा खुलासा- 60 चीनी सैनिक की मौत

लद्दाख गलवान घाटी में हुई झड़प पर अमेरिकी अखबार में खुलासा हुआ कि, इस दौरान चीन के 40-45 नहीं 60 सैनिक मारे गए और ये गलवान में हिंसा चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के इशारे पर हुई थी।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

लद्दाख: लद्दाख के गलवान घाटी में 15 जून को हुई झड़प का मामला आज फिर सुर्खियों में आया है, क्‍योंकि अमेरिकी अखबार की ओर से इस झड़प में कितने सैनिक मारे गए थे इस बारे मेें बड़ा खुलासा किया है।

गलवान झड़प में मारे गए थे 60 चीनी सैनिक :

अमेरिकी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय जवानों के साथ हुई झड़प के दौरान चीन के 40-45 नहीं, बल्कि 60 चीनी सैनिकों की मौत हुई थी। इतना ही नहीं इस रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि, गलवान में हिंसा चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के इशारे पर हुई थी, जिसमें चीनी सेना पूरी तरह नाकाम रही।

चीन अपनी विफलताओं से क्रोधित :

रिपोर्ट में चेतावनी देते हुए ये बात भी कही कि, चीन अपनी विफलताओं से और ज्यादा क्रोधित है। ऐसे में इसके दूरगामी परिणाम निकल सकते हैं। इस हार से बौखलाए राष्ट्रपति जिनपिंग अपनी फौज में विरोधियों को बाहर करने और अपने वफादारों को बड़े पदों पर बैठा सकते हैं। जिनपिंग इस हार से भारत के खिलाफ बड़े कदम उठाने के लिए भी उत्तेजित हैं, ऐसे में आने वाले दिनों में सीमा पर तनाव और बढ़ सकता है।

जानकारी के मुताबिक, ब्लैक टॉप और हेल्मेट टॉप के आस-पास चीन अपनी गतिविधियां बढ़ा रहा है और सेटेलाइट तस्वीरों में चीनी कैंप दिखाई दे रहे हैं।

बता दें, पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन सीमा वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच 15 जून को संघर्ष के दौरान भारत के एक कमांडिंग ऑफिसर समेत 20 जवानों की शहादत हुई थी और ऐसा दुनिया के दो सबसे बड़ी जनसंख्या वाले देशों भारत-चीन सीमा पर 45 साल यानी 1975 के बाद पहली भिड़ंत थी। 15 जून को चीन ने गलवान में भारत को चौंका दिया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co