अमेरिका में जो बाइडन ने भारी-भरकम राशि वाले वार्षिक बजट का खोला पिटारा
अमेरिका में जो बाइडन ने भारी-भरकम राशि वाले वार्षिक बजट का खोला पिटाराSocial Media

अमेरिका में जो बाइडन ने भारी-भरकम राशि वाले वार्षिक बजट का खोला पिटारा

अमेरिका के राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने अपने पहले वार्षिक बजट को पेश कर दिया है, जो भारी-भरकम राशि वाला है और उनके इस बजट को बेहद महँगा बताते हुए आलोचना भी कर रहे हैं...

अमेरिका। जनता जिस प्रकार अपने-अपने घर का बजट बनाती है, उसी प्रकार देश की सरकारें भी हर साल अपना बजट बनाती है और बजट का पिटारा खोलती है। इसी कड़ी में अमेरिका के राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने अपने पहले वार्षिक बजट को पेश कर दिया है, जो भारी-भरकम राशि वाला है।

बाइडन लाए 6 ट्रिलियन डॉलर का बजट :

दरअसल, अमेरिका में राष्‍ट्रपति चुनाव के बाद जो बाइडन की सरकार सत्‍ता में आई है और इस बार उनका (जो बाइडन) यह पहला बजट है। इस दौरान अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन 6 ट्रिलियन डॉलर का बजट प्रस्ताव लाए हैं और अपने बजट में उन्‍होंने कोरोना महामारी से निपटने के प्रावधानों के साथ ही कई जरूरी मुद्दों को प्राथमिकता दी है, जिसमें जलवायु परिवर्तन, शिक्षा, चिकित्सा, सार्वजनिक परिवहन और टेक्नोलॉजी शामिल हैं।

  • बजट में सबसे ज्यादा प्रावधान पेंटागन और अन्य सरकारी कार्यालयों के संचालन के लिए किया गया है।

  • बजट में क्लाइमेट चेंज से निपटने और क्लीन एनर्जी के लिए 800 बिलियन डॉलर का प्रावधान किया गया है।

  • तीन और चार वर्षीय बच्चों को मुफ्त स्कूली शिक्षा प्रदान करने के लिए बजट में 200 बिलियन डॉलर प्रदान किए गए हैं।

  • सभी नागरिकों के लिए कम्युनिटी कॉलेज के दो वर्षों के लिए 109 बिलियन डॉलर का प्रावधान है।

  • नेशनल पेड फैमिली और मेडिकल लीव प्रोग्राम के लिए 225 बिलियन डॉलर का प्रावधान है।

  • रोड और ब्रिज आदि के लिए 115 बिलियन का प्रावधान है।

  • पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए 160 बिलियन और प्रत्येक अमेरिकी तक ब्रॉडबैंड इंटरनेट पहुंचाने के लिए बजट में 100 बिलियन डॉलर का प्रावधान है।

बाइडन के बजट को अभी कांग्रेस से मंज़ूरी मिलनी बाकी :

हालांकि, जो बाइडन द्वारा पेश किए गए 6 ट्रिलियन डॉलर का बजट को कांग्रेस की मंज़ूरी मिलना जरूरी है और अभी इस बजट पर कांग्रेस से मंज़ूरी मिलना बाकी है।

बजट पर उठ रहे सवाल :

तो वहीं, जो बिडेन ने भारी-भरकम राशि वाले वार्षिक बजट की आलोचनाएं भी हो रही है और बहट को 'बेहद महँगा' बताया जा रहा है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्‍प की रिपब्लिकन पार्टी ने बजट पर सवाल खड़े करते हुए ये बात कही है कि, इससे देश कर्ज में डूब जाएगा।

इससे कर्ज 2031 तक सकल घरेलू उत्पाद के 117% तक पहुंच जाएगा, जो द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सबसे ज्यादा होगा।

रिपब्लिकन सीनेटर लिंडसे ग्राहम

इसके अलावा व्हाइट हाउस का यह कहना है कि, ''इस बजट से अर्थव्यवस्था की सुस्ती दूर होगी और उसे गति मिलेगी, यह बजट हर मायने में एक आदर्श बजट है।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co