महाभियोग से आरोपमुक्त हुए ट्रम्प
महाभियोग से आरोपमुक्त हुए ट्रम्प|Social Media
दुनिया

महाभियोग से आरोपमुक्त हुए ट्रम्प- राष्ट्रपति पद बरकरार

महाभियोग संकट से बरी होने वाले अमेरिकी इतिहास के तीसरे राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प हैं, जो अमेरिकी संसद सीनेट में सभी आरोपों से मुक्‍त हो गए हैं, जानेंं कितने वोटों से मिली जीत?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प पर सत्ता दुरुपयोग के आरोप को लेकर उनका राष्ट्रपति पद बरकरार रहेगा या नहीं... इस पर संस्‍पेस बना हुआ था, जो अब खत्‍म हो चुका है, क्‍योंकि बुधवार को अमेरिकी संसद के उच्च सदन सीनेट में राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प महाभियोग के सभी आरोपों से बरी हो गए हैं।

कितने वोटों से मिली जीत :

लिहाजा सत्ता के दुरुपयोग के आरोप पर अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प को 48 के मुकाबले 52 वोटों से दोषी नहीं पाया गया। इसके अलावा महाभियोग के एक दूसरे आरोप (कांग्रेस के काम में रुकावट डालने) में भी वह बरी हो चुके हैं, डॉनल्ड ट्रम्प ने 47 के मुकाबले 53 वोटों के साथ जीत हासिल की है।

अमेरिकी इतिहास के तीसरे राष्ट्रपति ट्रम्प :

अमेरिका के 244 साल के इतिहास में ऐसा तीसरी बार है कि, किसी राष्ट्रपति को पद से हटाने के लिए महाभियोग लाया गया और वह (डॉनल्ड ट्रम्प) इस महाभियोग संकट से निकलने में कामयाब होते हुए अमेरिकी इतिहास के तीसरे राष्ट्रपति हैं।

  • सबसे पहले अमेरिका के 17वें राष्ट्रपति 'एंड्रयू जॉनसन' पर महाभियोग चला।

  • दूसरी बार अमेरिका के 42वें राष्ट्रपति 'बिल क्लिंटन' पर महाभियोग चला।

  • तीसरी बार 45वें राष्ट्रपति 'डॉनल्ड ट्रम्प' पर महाभियोग की कार्रवाई हुई।

सदन द्वारा पारित महाभियोग में एक नहीं बल्कि राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प दो आरोपों से बरी होने के बाद 'आरोपमुक्त हुए' व आगेे का रास्‍ता साफ हो चला है यानी अब उनका राष्ट्रपति पद बरकरार रहेगा।

व्हाइट हाउस की प्रवक्ता ने कहा :

सीनेट से बरी होने के बाद व्हाइट हाउस की प्रवक्ता स्टेफनी ग्रीशम ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति ट्रम्प को सारे आरोपों से मुक्ति मिल गई है। यह एक तरह से उनकी पुनर्स्थापना जैसा है। डेमोक्रेट्स का शर्मनाक बर्ताव अब बीते दिनों की बात हो गई है।’’

उप राष्ट्रपति ने दी प्रतिक्रिया :

वहीं, उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने भी अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, महीनों की शर्मनाक जांच और पक्षपातपूर्ण रवैये के बाद ट्रंप को बरी कर दिया गया है। जेरी नाडलर, हाउस ज्यूडिशियरी कमेटी के अध्यक्ष, जिन्होंने ट्रम्प के खिलाफ आरोपों को आगे बढ़ाने की कसम खाई थी।

राष्ट्रपति ट्रम्प पर क्‍या आरोप लगा था?

दरअसल, अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प पर सत्ता का दुरुपयोग करने और कांग्रेस (अमेरिकी संसद) के काम में रुकावट डालने का आरोप था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co