कोरोना संकट में अब वेंटिलेटर्स दान कर ट्रम्‍प निभाएंगे अपनी दोस्‍ती

कोरोना आपादा की इस मुश्किल घड़ी में US ट्रम्‍प बेस्ट फ्रेंड का पूरा फर्ज निभा रहे हैं, अब उन्‍होंने भारत को वेंटिलेटर्स देने का ऐलान किया और कहा, भारत-अमेरिका कोरोना का टीका भी बना रहे हैं।
कोरोना संकट में अब वेंटिलेटर्स दान कर ट्रम्‍प निभाएंगे अपनी दोस्‍ती
अब वेंटिलेटर्स दान कर ट्रम्‍प निभाएंगे अपनी दोस्‍तीPriyanka Sahu -RE

राज एक्‍सप्रेस। चीन से आई घातक 'कोरोना वायरस' (कोविड-19) की आपदा के कारण भारत ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में इस बीमारी ने तबाही मचा रखी है। इसी बीच भारत को कोरोना काल की इस मुश्किल घड़ी में विदेशों से भी सहयोग मिल रहा है और इन सबके बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प व भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों नेता अपनी दोस्‍ती का पूरा फर्ज निभा रहे हैं, अब US भारत को वेंटिलेटर्स दान करेंगे।

US भारत को देगा वेंटिलेटर :

देखा जाएं तो कोरोना के इस चुनौतीपूर्ण समय में भारत भी एक शक्तिशाली देश के रूप में उभर रहा है, क्‍योंकि पहले भारत ने अमेरिका के लिए 'हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन' की दवा का निर्यात कर उसकी मदद की और अब US राष्‍ट्रपति ट्रम्‍प भारत को 'वेंटिलेटर्स' का दान दिए जाने की घोषणा की है। इस बारे में अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार (15 मई) को अपनी प्रतिक्रिया में कहा, अमेरिका कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ खड़ा है।

मुझे यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि भारत में अपने दोस्तों के लिए अमेरिका वेंटिलेटर दान करेगा।
डॉनल्ड ट्रम्प, अमेरिका के राष्ट्रपति

दोनों देश मिलकर हराएंगे कोरोना :

इस दौरान US राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प द्वारा भारतीय-अमेरिकी को महान वैज्ञानिक और अनुसंधानकर्ता बताते हुए ये बात भी कही कि, ''भारत और अमेरिका दोनों देश साथ मिल कर कोविड-19 का टीका विकसित करने में जुटे हुए हैं। हम (भारत और अमेरिका) साथ मिलकर इस कोरोना वायरस को हरा देंगे।''

2020 के अंत तक कोविड-19 का टीका विकसित :

इतना ही नहीं US राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने संवाददाताओं से अपनी प्रतिक्रिया में यह दावा भी किया है कि, इस साल यानी 2020 के अंत तक 'कोविड-19' का टीका विकसित होने की संभावना है। उन्होंने कहा, ''मैं कुछ ही समय पहले भारत से लौटा हूं और हम भारत के साथ मिल कर काम कर रहे हैं। अमेरिका में भारतीय बहुत बड़ी संख्या में हैं और आप जिन लोगों के बारे में बात कर रहे हैं उनमे से कई लोग टीका विकसित करने में जुटे हुए हैं। बेहतरीन वैज्ञानिक और अनुसंधानकर्ता।"

बता दें कि, कोरोना वायरस की जंग से निपटने के लिए भारत ने अमेरिका को 'हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन' की दवा सप्लाई की, अब अमेरिका वेंटिलेटर्स देकर अपनी दोस्ती निभाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co