आंगनबाड़ी में अण्डा वितरण का विरोध
आंगनबाड़ी में अण्डा वितरण का विरोध|Social Media
मध्य प्रदेश

प्रदेश सरकार की अंडा वितरण योजना के विरोध में वैश्य महासम्मेलन

वैश्य महासम्मेलन मध्यप्रदेश आंगनबाड़ी में अंडा वितरण के विरोध में प्रदेश स्तर पर अपना विरोध प्रकट कर रहा है।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। वैश्य महासम्मेलन मध्यप्रदेश आंगनबाड़ी में अंडा वितरण के विरोध में प्रदेश स्तर पर अपना विरोध प्रकट कर रहा है। प्रदेश शासन का यह निर्णय भारतीय संस्कृति पर गहरा कुठाराघात है। साथ ही प्रदेश के नौनिहालों के स्वास्थ्य के साथ भी खिलवाड़ है। वैश्य महासम्मेलन के प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर गुप्ता ने शनिवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से अपील की है कि इस प्रकार के जन विरोधी निर्णय को वापस लिया जाए।

वैश्य महासम्मेलन मध्यप्रदेश के प्रांतीय महामंत्री जगदीश मित्तल एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी राकेश सिंघई ने बताया कि प्रदेश शासन के इस निर्णय सनातन व्यवस्था को खण्ड-खण्ड होने से बचाने के लिए वैश्य महासम्मेलन मध्यप्रदेश की सभी इकाईयां 6 जनवरी सोमवार को एक साथ जिला मुख्यालयों पर आंगनबाड़ियों में अण्डा वितरण के निर्णय को वापस लेने के लिए कलेक्टर को ज्ञापन सौंपेंगे।

प्रदेश की शाकाहार प्रेमी जनता से अपील की है कि शांतिपूर्ण तरीके से अपनी भावनाओं से मुख्यमंत्री को अवगत कराएं।

उमाशंकर गुप्ता, वैश्य महासम्मेलन के प्रदेश अध्यक्ष

अण्डा वितरित किए जाने के फैसले पर प्रदेश में मचा हुआ है बवाल

मध्यप्रदेश में आंगनबाड़ियों में बच्चों को अण्डा वितरित किए जाने के फैसले पर प्रदेश में बवाल मचा हुआ है। इस बात को लेकर शुक्रवार को नीमच में जिला पंचायत की साधारण सभा की बैठक में दिलचस्प प्रस्ताव पास किया गया है। इसमें आंगनबाड़ी केंद्रों पर अंडे के बजाय सीधे मुर्गियां देने की मांग की गई है।

बता दें कि, प्रदेश सरकार द्वारा आंगनबाड़ियों में पोषण आहार के तौर पर बच्चों को आगामी एक अप्रैल 2020 से अंडे बांटे जाएंगे की बात हुई। जिसके लिए प्रदेश सरकार ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी, जिसके लिए 1-6 साल तक के बच्चों सहित गर्भवती-गर्भधात्री महिलाओं को सप्ताह में तीन दिन अंडे दिए जाने की योजना है। योजना में यह भी शामिल किया गया है कि, जो भी बच्चा या महिला अंडा नहीं खाना चाहती, उन्हें एक अंडे की कीमत के फल दिए जाएंगे। जिसका विभाग द्वारा प्रयास किया जा रहा है कि, प्रदेश से ही अंडो की पूर्ति हो ताकि ताजा अंडे आंगनबाड़ियों तक तुरंत पहुंच जाएं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co