कौन बनेगा CM पर रस्साकशी
कौन बनेगा CM पर रस्साकशी|Priyanka Yadav - RE
मध्य प्रदेश

बीजेपी में चल रही गुटबाजी, कौन बनेगा CM पर रस्साकशी

देश में फैले कोरोना वायरस का आतंक इन दिनों पूरी दुनिया में तेजी से छाया हुआ है वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री को लेकर सोशल मीडिया पर छाए शिवराज और तोमर!

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। चीन से देश में फैले कोरोना वायरस ने जहां देश के कई हिस्सों को अपने चपेट में ले रखा है वहीं इस वायरस से बचने के लिए सरकार हाइअलर्ट पर है और देश के कई क्षेत्रों को लॉकडाउन करवा दिया गया है। दूसरी तरफ मध्यप्रदेश के सियासी घटनाक्रम पर फैसला आना बाकी है इसी बीच मुख्यमंत्री को लेकर सोशल मीडिया पर छाए शिवराज और तोमर!

कौन बनेगा मुख्यमंत्री ?

प्रदेश से कमलनाथ सरकार की विदाई के बाद, कौन मुख्यमंत्री बनेगा, इसको लेकर पिछले तीन दिन से सोशल मीडिया पर जबदस्त बहस छिड़ी हुई है। जिसमें दो प्रबल दावेदार पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का नाम उभरकर आया है।

आज विधायक दल की बैठक में हो सकता है मुख्यमंत्री के नाम का फैसला :

हालांकि 23 मार्च, सोमवार को विधायक दल की बैठक होने जा रही है, जिसमें मुख्यमंत्री के नाम को लेकर पिक्चर साफ हो जाएगी। भाजपा विधायक दल की बैठक सोमवार को होने जा रही है। इस बैठक में विधायक दल का नेता चुना जाएगा। हालांकि जिस दिन से कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया है उस दिन से आज तक सोशल मीडिया पर भाजपा की ओर से कौन मुख्यमंत्री होगा? इसको लकेर जबदस्त बहस छिड़ी हुई है।

सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री के लिए निकल कर आए दो नाम :

सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री के लिए दो नाम पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर निकल कर आए हैं। दोनों नेताओं के समर्थक अपने-अपने नेता को मुख्यमंत्री के रूप में देखने के लिए खूब पोस्ट वायरल कर रहे हैं। हालांकि अभी मुख्यमंत्री के नाम को लेकर पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व में अंतिम निर्णय नहीं हो सका है। मुख्यमंत्री के नाम को लेकर केंद्रीय नेतृत्व बारीकी से मंथन और चिंतन कर रहा है।

सोमवार को विधायक दल की बैठक होने जा रही है जिसमें केन्द्रीय नेतृत्व किसी वरिष्ठ नेता को प्रभारी के रूप में भोपाल भेज सकते हैं। बैठक में तय होगा कि- विधायक दल का नेता कौन होगा, जो मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालेगा। पार्टी सूत्रों की मानें- तो 24 मार्च को विधायक दल का नेता राज्यपाल से मिलकर अपना दावा पेश कर सकता है और 25 मार्च को नवरात्र के पहले दिन शपथ ग्रहण होने की पूरी संभावना जताई जा रही है।

तोमर बने तो बढ़ेगा अंचल का कद :

ग्वालियर-चंबल संभाग से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा हैं। वहीं कांग्रेस से भाजपा में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी राज्यसभा भेजने जा रही है। उसके बाद ऐसा माना जा रहा है कि उन्हें मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री से नवाजा जाए। यदि केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को मुख्यमंत्री बनाया जाता है तो निश्चित रूप से ग्वालियर-चंबल संभाग का कद बढ़ेगा। आजादी के बाद पहली बार ग्वालियर-चंबल से कोई नेता मुख्यमंत्री बनेगा।

सूत्रों की मानें तो-

केंद्रीय मंत्री तोमर से केंद्रीय नेतृत्व ने मुख्यमंत्री बनने के लिए पूछा गया है, लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठने से मना कर दिया है। बताया जाता है कि उनकी भी इच्छा है कि शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री बनाया जाए।

अंचल से मिल सकता है डिप्टी सीएम :

अंचल से मिल सकता है डिप्टी सीएम यदि शिवराज सिंह चौहान चौथी बार प्रदेश की कमान संभालते हैं तो ग्वालियर- चंबल संभाग को डिप्टी सीएम की कुर्सी मिल सकती है। सूत्रों की माने तो पार्टी नरोत्तम मिश्रा को डिप्टी सीएम बना सकती है। ऐसा माना जा रहा है कि उत्तरप्रदेश के फॉमरूले पर भाजपा मध्यप्रदेश में भी एक CM दो डिप्टी सीएम बना सकती है। एक डिप्टी सीएम का पद सिंधिया खेमे के विधायक को मिल सकता है। हालांकि दूसरे डिप्टी सीएम की ताजपोशी उपचुनाव के बाद होने की संभावना जताई जा रही है।

नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर पढ़ें खबरें-

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co