इस्तीफे की पेशकश पर गुलाम नबी आजाद की सफाई
इस्तीफे की पेशकश पर गुलाम नबी आजाद की सफाई|Social Media
भारत

इस्तीफे की पेशकश पर गुलाम नबी आजाद की सफाई

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद की ओर से इस्तीफे की पेशकश की खबर आई थी, जिसपर अब उनकी ओर से सफाई पेश करते हुए ये बात कही गई है...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

दिल्ली, भारत। कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की ओर से लिखेे गए पत्र को लेकर जमकर घमासाम मचा हुआ है। इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी का विवादस्‍पद बयान भी सामने आया था, जिसपर कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता उनकर भड़के गए थे, यहां तक की वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद ने इस्तीफे की बात तक कर दी थी।

CWC बैठक में पत्र विवाद के बीच व राहुल गांधी के कथित आरोप का लेकर वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद ने कहा था कि, "अगर वह किसी भी तरह से भाजपा से मिले हुए हैं, तो वह अपना इस्तीफा दे देंगे, चिट्ठी लिखने की वजह कांग्रेस की कार्यसमिति थी।" लेकिन अब उन्‍होंने अपने इसी बयान पर सफाई पेश करते हुए ये बात कही-

उन्हें राहुल गांधी और सोनिया गांधी से कोई दिक्कत नहीं है और उन्होंने उनकी वजह से इस्तीफे की पेशकश नहीं की थी, नबी आज़ाद ने कहा कि उन्होंने बैठक में कुछ कांग्रेस नेताओं के बयान पर इस्तीफे की पेशकश की थी और उन्हें राहुल-सोनिया से कोई दिक्कत नहीं है।

गुलाम नबी आज़ाद

ये था राहुल गांधी का कथति आरोप :

बता दें कि, CWC बैठक में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि, ''जिस वक्त पत्र भेजा गया उस समय सोनिया गांधी बीमार थी। साथ ही उन्होंने पत्र की टाइमिंग पर सवाल उठाते हुए ये बात भी कही कि, जब कांग्रेस मध्य प्रदेश और राजस्थान के सियासी संकट का सामना कर रही थीं, जब अध्यक्ष बीमार थी, तब ही चिट्ठी क्यों भेजी गई।जिन्होंने इस वक्त चिट्ठी लिखी है, वो भारतीय जनता पार्टी (BJP) से मिले हुए हैं।'' राहुल गांधी इसी कथित आरोप का लेकर वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल व गुलाम नबी आज़ाद भड़क गए थे और राहुल के बयान पर पलटवार किया था।

तो वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने भी अपने सार्वजनिक आपत्ति वाले ट्वीट को हटाकर सफाई पेश की है।

तो वहीं रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बताया कि, ''राहुल गांधी ने कभी भी ऐसे अल्फाज का इस्तेमाल नहीं किया। इसलिए झूठी अफवाहें और गैर जिम्मेदराना जानकारी न फैलाएं। हां, हमें एक साथ काम करने की ज़रूरत है ताकि हम मोदी हुकूमत के खिलाफ लड़ाई लड़ सकें।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co