किसान महासम्मेलन में मोदी के संदेश के बाद राहुल का वार- आज फिर असत्याग्रह
किसान महासम्मेलन में मोदी के संदेश के बाद राहुल का वार- आज फिर असत्याग्रहSocial Media

किसान महासम्मेलन में मोदी के संदेश के बाद राहुल का वार- आज फिर असत्याग्रह

कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा-आदत के अनुसार मोदी जी ने आज फिर असत्याग्रह किया। किसानों की बात सुनो, कृषि विरोधी क़ानून वापस लो...

दिल्‍ली, भारत। देश में महामारी कोरोना संकटकाल और ठिठुरन वाली ठंड में नए कृषि कानूनों के खिलाफ सड़कों पर किसानों के आंदोलन बीच इस मुद्दे पर विपक्ष का हल्ला बोल भी जारी है।मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी लगातार ही मोदी सरकार के खिलाफ टिप्‍पणी कर रही है।

मोदी जी ने आज फिर असत्याग्रह किया :

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी एक भी ऐसा दिन नहीं छोड़ रहे कि, वो मोदी सरकार पर वार न करें। आज शुक्रवार को शाम होते-होते एक बार फिर उन्‍होंने ने ट्वीट के जरिए ये बात कही है कि, ''आदत के अनुसार मोदी जी ने आज फिर असत्याग्रह किया। किसानों की बात सुनो, कृषि विरोधी क़ानून वापस लो।''

इससे पहले कांग्रेस नेेेेता राहुल गांधी ने आज सुबह भी अपने ट्वीटर अकांउट ये ट्वीट शेयर कर ये कहा था- और कितने अन्नदाताओं को क़ुर्बानी देनी होगी? कृषि विरोधी क़ानून कब ख़त्म किए जाएँगे?

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी PM मोदी के MSP वाले बयान को लेकर कहा, ''खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने घोषणा की थी कि एमएसपी पर एक कानून लागू करने की जरूरत है, फिर पीएम मोदी अपनी बात क्यों नहीं मानते हैं।''

बता दें कि, मध्‍यप्रदेश में 'किसान महासम्मेलन' के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का MP के किसानों के साथ संवाद किया। इसके बाद ही राहुल गांधी ने ये कहा कि, मोदी जी ने आज फिर असत्याग्रह किया। इसके अलावा किसान महासम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पार्टियों पर जमकर निशाना साधते हुए ये बात कही कि, 'मैं सभी राजनीतिक दलों को कहना चाहता हूं कि आप अपना क्रेडिट अपने पास रखिए। मुझे क्रेडिट नहीं चाहिए। मुझे किसान के जीवन में आसानी चाहिए, समृद्धि चाहिए, किसानी में आधुनिकता चाहिए। कृपा करके किसानों को बरगलाना, उन्हें भ्रमित करना छोड़ दीजिए। अचानक भ्रम और झूठ का जाल बिछाकर अपनी राजनीतिक जमीन जोतने के खेल खेले जा रहे हैं। किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर वार किए जा रहे हैं।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co