कांग्रेस कृषि कानूनों का विरोध तब तक करेगी जब तक सरकार इन्हें खत्म न कर दे
कांग्रेस कृषि कानूनों का विरोध तब तक करेगी जब तक सरकार इन्हें खत्म न कर देTwitter

कांग्रेस कृषि कानूनों का विरोध तब तक करेगी जब तक सरकार इन्हें खत्म न कर दे

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के तीनों विवादास्पद कृषि कानूनों के अमल होने पर अभी रोक लगाने के साथ ही कमेटी का गठन किया है। इस पर अब कांग्रेस पार्टी केे प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला का बयान आया है...

दिल्‍ली, भारत। कृषि बिल के खिलाफ मचेे घमासान पर सरकार और किसान संगठनों में कोई समझौता ना होने के बाद आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार द्वारा पास किए गए तीनों विवादास्पद कृषि कानूनों के अमल होने पर अभी रोक लगाने के साथ ही कमेटी का गठन किया है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद अब कांग्रेस पार्टी केे प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला का बयान आया है।

बातचीत के लिए बनाई कमेटी पर बोले सुरजेवाला :

कांग्रेस के प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला सुप्रीम कोर्ट ने आज किसानों से बातचीत के लिए 4 सदस्यों की कमेटी बनाई है। कमेटी में शामिल 4 लोगों ने सार्वजनिक तौर पर पहले से ही निर्णय कर रखा है कि ये काले क़ानून सही हैं और कह दिया है कि किसान भटके हुए हैं। ऐसी कमेटी किसानों के साथ न्याय कैसे करेगी?

कृषि क़ानूनों पर सुरजेवाला का कहना :

कांग्रेस के प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ये 3 काले क़ानून देश की खाद्य सुरक्षा पर हमला है, जिसके 3 स्तंभ हैं- सरकारी खरीद, MSP, राशन प्रणाली जिससे 86 करोड़ लोगों को 2 रुपये किलो अनाज मिलता है। इसलिए कांग्रेस 3 कृषि क़ानूनों का विरोध तब तक करती रहेगी जब तक मोदी सरकार इन्हें खत्म नहीं कर देती।

कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने इस दौरान और क्‍या-क्‍या कहा, इसका पूरा वीडियो कांग्रेस पार्टी ने अपने ट्ववीटर अंकाउट पर शेयर किया है, जो आप यहां देख व सुन सकते हैं-

बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट ने बातचीत के लिए जो कमेटी बनाई है, अब ये कमेटी ही अपनी रिपोर्ट अदालत को देगी, इसके बाद आगे का फैसला होगा। इस कमेटी में भूपिंदर मान सिंह मान, प्रेसिडेंट, भारतीय किसान यूनियन, डॉ. प्रमोद कुमार जोशी, इंटरनेशनल पॉलिसी हेड, अशोक गुलाटी, एग्रीकल्चर इकोनॉमिस्ट और अनिल धनवत, शेतकरी संगठन, महाराष्‍ट्र को शामिल किया गया है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने अगले आदेश तक किसानों के इन तीनों कानूनों को लागू करने पर रोक लगाई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co