अमेरिका के शीर्ष अधिकारी का दावा-हमारी सेना देगी भारत का साथ
अमेरिका के शीर्ष अधिकारी का दावा-हमारी सेना देगी भारत का साथ|Social Media
दुनिया

अमेरिका के शीर्ष अधिकारी का दावा-हमारी सेना देगी भारत का साथ

अमेरिका ने एक बार फिर भारत का साथ देने की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए कहा कि, हमारी सेना मजबूत है और मजबूत बनी रहेगी, चाहे वह भारत-चीन के बीच संघर्ष के संबंध में हो या कहीं और।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

अमेरिका। पूर्वी लद्दाख में LAC पर भारत और चीन के तनाव जैसे माहौल में कई महाशक्तिशाली देश भारत के साथ हैं, हालांकि अभी तो राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और चीनी विदेश मंत्री की बातचीत के बाद दोनों देशों के बीच तनाव में थोड़ी नरमी आ रही है और चीनी सेना अपने कदम पीछे की तरफ खींच रही है, चीन की चालबाजी को लेकर भारतीय सेना अभी भी सतर्क है, ऐसे में अमेरिका द्वारा दोबारा से भारत का साथ देने की प्रतिबद्धता को दोहराया गया है।

अमेरिका के शीर्ष अधिकारी का दावा :

दरअसल, व्हाइट हाउस के एक शीर्ष अधिकारी की प्रतिक्रिया सामने आ रही है, जिसमें उन्होंने यह दावा किया है कि, 'भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के संबंध में संयुक्त राज्य अमेरिका की सेना भारत के साथ मजबूती से खड़ी रहेंगी।' व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ मार्क मीडोज ने बताया, स्पष्ट संदेश है कि, हम चीन या किसी और को उस क्षेत्र में अपना प्रभुत्व स्थापित नहीं करने देंगे और सबसे शक्तिशाली बल होने के कारण बागडोर संभालेंगे। मार्क मीडोज ने दोनों देशों के बीच सीमा विवाद पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यह टिप्पणी की और कहा, ''हमारी सेना मजबूत है और मजबूत बनी रहेगी, चाहे वह भारत और चीन के बीच संघर्ष के संबंध में हो या कहीं और।''

बता दें कि, व्हाइट हाउस के किसी अधिकारी का इस तरह से बयान तब सामने आया, जब तीन दिन पहले ही विवादित दक्षिण चीन सागर में अमेरिका के दो एयरक्राफ्ट कैरियर ने ड्रिल की थी, वहीं चीन ने भी सैन्य अभ्यास किया, जिसकी पेंटागन और पड़ोसी देशों ने भी आलोचना की थी। देखा जाए, तो इन दिनों अमेरिका भारत का साथ दे रहा है और अब हाल ही अमेरिका ने भारत की राह पर चीन के एप्स को प्रतिबंध कर चीन को तगड़ा झटका देने की तैयारी में जुटा हुआ है।

बताते चलें कि, लद्दाख में LAC पर तनाव के हालात फिलहाल कम नजर आ रहे हैं, क्योंकि 15 जून को गलवान में पैट्रोलिंग पॉइंट 14 पर हुई हिंसक झड़प वाली साइट से चीन के सैनिक करीब 1.8 किलो मीटर पीछे हट गए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co