PM Modi Said On CAB Protest
PM Modi Said On CAB Protest|Priyanka Sahu
पॉलिटिक्स

PM मोदी की अपील पर 'CAB 2019' पर मच रहा बवाल क्‍या होगा शांत?

असम में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर PM नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर शांति की अपील करते हुए यह बात कही, तो क्‍या अब नागरिकता संशोधन बिल 2019 पर मच रहा बवाल खत्‍म या शांत होगा...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा-लोकसभा से पास होने के बाद देश में इसके खिलाफ काफी बवाल मचा है, पूर्वोत्तर के कई राज्यों में बिल के खिलाफ प्रदर्शन जारी है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम में विरोध प्रदर्शन को लेकर ट्वीट कर यह (PM Modi Said On CAB Protest) बात कही।

असम को लेकर PM मोदी का ट्वीट :

असम में हो रहे 'उग्र विरोध प्रदर्शन' के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ट्वीट कर शांति की अपील की है। साथ ही उन्‍होंने अपने ट्वीट में यह भी लिखा-

मैं असम के भाईयों-बहनों को भरोसा दिलाता हूं कि CAB के पास होने से आप पर असर नहीं पड़ेगा, कोई भी आपका हक नहीं छीन रहा है, ये ऐसे ही जारी रहेगा।

PM नरेंद्र मोदी ने अपने इस ट्वीट में आगे यह बात भी बोली कि, ''मैं उन्हें आश्वस्त करना चाहता हूं कि, कोई उनसे उनके अधिकार, अनूठी पहचान और खूबसूरत संस्कृति नहीं छीन सकता, वह लगातार फलती-फूलती रहेगी।''

इसके अलावा एक अन्‍य ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि, 'केंद्र सरकार और मैं पूर्णतः कटिबद्ध हैं कि असमी लोगों के राजनैतिक, भाषायी, सांस्कृतिक और भूमि संबंधी अधिकारों की क्लॉज़ 6 की मूल भावना के अनुरूप संवैधानिक रूप से रक्षा की जाए।'

BJP ने चुनावी घोषणापत्र के 3 वादे किए पूरे, अब अगली रणनीति क्‍या?

गौर करने वाली बात तो यह है कि, भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने लोकसभा चुनाव 2019 के अपने चुनावी घोषणापत्र में 'अनुच्छेद-370' हटाने व 'तीन तलाक' की प्रथा खत्म और 'नागरिकता संशोधन कानून' लाने का वादा किया था और यह तीनों वादे लगभग 7-8 माह के अंदर पूरे करे हैं।

BJP ने चुनावी घोषणापत्र के 3 वादे किए पूरे
BJP ने चुनावी घोषणापत्र के 3 वादे किए पूरे
Priyanka Sahu -RE

बता दें कि, 'नागरिकता संशोधन बिल 2019' भले ही पास हो चुका हो, परंतु इस बिल के खिलाफ देशभर में हाहाकार मचा है, कई राज्यों में जमकर 'उग्र विरोध प्रदर्शन' हो रहा (Citizenship Amendment Bill Protest) है और संघर्ष की स्थिति बनती नजर आ रही है। वहीं बुधवार को सदन में 'नागरिकता संशोधन बिल' के खिलाफ विपक्ष के नेताओं के हंगामे के बीच अमित शाह ने अपना जवाब प्रस्तुत कर राज्यसभा से भी यह ऐतिहासिक बिल पास करा लिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co