India tour Australia: पहले वनडे में खुली टीम इंडिया की कलई, कंगारू जीते
हर मोर्चे पर ऑस्ट्रेलिया ने दी भारत को पटखनी।Social Media.

India tour Australia: पहले वनडे में खुली टीम इंडिया की कलई, कंगारू जीते

किसने कैच लपका, किसने टपकाया, कितने रन देकर किसने लिए कितने विकेट, किसने बनाए कितने रन, किस ओवर में टपके विकेट? संग जानें सारे जवाब एक साथ।

हाइलाईट्स –

  • हार से हुई शुरुआत

  • दौरे पर पहला वनडे हारी इंडिया

  • मेजबान हर मोर्चे पर मेहमान से आगे

  • गेंदबाजों की धुनाई, बल्लेबाज असफल

राज एक्सप्रेस। भारत के बहुप्रतीक्षित ऑस्ट्रेलिया दौरे की शुरुआत टूर के पहले वनडे में टीम इंडिया के निराशाजक प्रदर्शन के साथ हुई। न तो क्रिकेट विश्लेषकों के पसंदीदा गेंदबाज दमदार गेंदबाजी कर पाए और न ही बल्लेबाजों ने प्रभावित किया। कप्तान विराट कोहली भी निष्प्रभावी रहे।

किसने कैच लपका, किसने टपकाया, कितने रन देकर किसने लिए कितने विकेट, किसने बनाए कितने रन, किस ओवर में टपके विकेट? संग जानें सारे जवाब एक साथ।

हार से दौरे का आगाज -

साल 2020-21 के ऑस्ट्रेलिया दौरे (India tour of Australia, 2020-21) पर 4 टेस्ट, 3 वनडे और इतने ही टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेलने पहुंची भारतीय क्रिकेट टीम के टूर का आगाज हार से हुआ। सीरीज के पहले वनडे में मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 66 रनों से हरा दिया।

एससीजी-SCG यानी सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिंच ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी। कप्तान फिंच का चुनाव सही रहा क्योंकि भारतीय कप्तान विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय गेंदबाज निष्प्रभावी रहे।

ऑस्ट्रेलिया 374-6 (50 Ov) की कहानी –

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 50 ओवर्स में 6 विकेट खोकर 374 रनों का विशाल टारगेट भारत के समक्ष रखा। कंगारू बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों पर लगातार हावी रहे।

भारत को पहले विकेट के लिए 27.5 ओवर्स तक तरसना पड़ा। पहले विकेट के तौर पर डेविड वार्नर का विकेट गिरा। वार्नर ने 76 गेंदों पर 6 चौकों के बूते 69 रनों की प्रभावी पारी खेली। शमी की गेंद पर वार्नर का कैच विकेट कीपर लोकेश राहुल ने लपका।

कप्तान-पूर्व कप्तान के शतक –

ऑस्ट्रेलिया के विशाल योग में टीम के कप्तान आरोन फिंच और पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने भरपूर सहयोग दिया। दूसरा विकेट कप्तान फिंच के रूप में गिरा। फिंच ने 124 गेंदों पर 114 रन 9 चौकों और 2 छक्कों के सहारे बनाए। बुमराह ने 40वें ओवर की आखिरी गेंद पर फिंच को विकेट कीपर राहुल के हाथों कैच कराया।

स्टोइनिस नहीं खोल पाए खाता –

अगले ही ओवर (40.4) में मार्कस स्टोइनिस भी तीसरे विकेट के तौर पर जब आउट हुए तो भारत को कुछ आस बंधी लेकिन मैक्सवेल ने सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। स्टोइनिस (1 गेंद 0 रन) का कैच चहल की गेंद पर विकेट कीपर राहुल ने लपका। राहुल ने पारी में कुल तीन कैच लपके।

फिर गिरा मैक्सवेल का विकेट -

चौथा विकेट ग्लेन मैक्सवेल के तौर पर भारतीय टीम को हासिल हुआ। ताबड़तोड़ अंदाज में खेल रहे मैक्सवेल ने महज 19 गेंदों पर 45 रनों की अपनी पारी में 5 चौके और 3 छक्के जड़े। शमी की गेंद पर मैक्सवेल का कैच RJ यानी रविंद्र जडेजा ने लपका।

पांचवा विकेट लाबुस्चगने –

भारतीय गेंदबाज नवदीप सैनी को एकमात्र विकेट हासिल हुआ। उन्होंने मार्नस लाबुस्चगने को शिखर धवन के हाथों कैच आउट कराया। लाबुस्चगने ने 2 गेंदों पर 2 रन की संक्षिप्त पारी खेली।

स्मिथ की आतिशी पारी –

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ ने पहले वनडे में जमकर बल्ला चलाया। स्मिथ ने मात्र 66 गेंदों पर 105 रनों की प्रभावी पारी में 11 चौके और 4 छक्के मारे। उनकी पारी की खासियत यह रही कि स्मिथ के बल्ले से जरूरत के वक्त जरूरी रन निकले। स्मिथ को शमी ने बोल्ड किया। स्मिथ के रूप में टीम ऑस्ट्रेलिया का छठवां एवं आखिरी विकेट गिरा।

कैरी-कमिंस नाबाद –

विकेट कीपर एलेक्स कैरी 2 चौकों के सहारे 13 गेंदों पर 17 जबकि पैट कमिंस 1 गेंद पर 1 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे।

भारतीय गेंदबाजी निष्प्रभावी –

भारत के दौरे के पहले कपिल देव जैसे महान ऑलराउंडर क्रिकेट समीक्षकों ने भारतीय गेंदबाजों को दुनिया की सशक्त गेंदबाजी शक्ति माना था, लेकिन ऑस्ट्रेलियन बल्लेबाजों के सामने सभी गेंदबाज निष्प्रभावी रहे।

इनकी इतनी इकोनॉमी –

कुल 10 ओवरों में 5.90 की इकोनॉमी से 59 रन देकर 3 विकेट हासिल करने वाले मोहम्मद शमी के अलावा रविंद्र जडेजा (आरजे-RJ) ही दूसरे गेंदबाज रहे जिन्होंने एक तरह से किफायती गेंदबाजी की। आरजे ने 10 ओवरों में बगैर विकेट हासिल किए 6.3 की इकोनॉमी से 63 रन खर्च किए।

चहल, सैनी, बुमराह महंगे साबित –

भारत का ओर से सबसे महंगे साबित हुए युजवेंद्र चहल ने 10 ओवरों में 8.9 की इकोनॉमी से 89 रन दिये। अपने स्पैल में चहल ने 4 वाइड और 1 नो बॉल भी डाली। नवदीप सैनी दूसरे मंहगे गेंदबाज साबित हुए उन्होंने 10 ओवरों के अपने कोटे में 8.30 की इकोनॉमी से 83 रन खर्च कर दिये। सैनी ने कुल 3 वाइड गेंद डालीं।

तीसरे महंगे गेंदबाज साबित हुए जसप्रीत बुमराह ने उम्मीद से परे 7.30 की इकोनॉमी से गेंदबाजी करते हुए तीन वाइड और एक नो बॉल के साथ कुल 73 रन खर्च किये। बुमराह, सैनी और चहल को एक-एक विकेट हासिल हुआ।

ऑस्ट्रेलिया विकेट पतन –

156 -1 (वार्नर, 27.5), 264-2 (फिंच, 39.6), 271-3 (स्टोइनिस, 40.4), 328-4 (मैक्सवेल, 44.5), 331-5 (लाबुस्चगने, 45.2), 372-6 (स्टीवन स्मिथ, 49.3)।

भारत 308-8 (50 Ov) –

ऑस्ट्रेलिया के 374 रनों के जवाब में खेलने उतरी भारतीय टीम 50 ओवरों में 8 विकेट खोकर 308 रन ही बना पाई और ऑस्ट्रेलिया से मैच 66 रनों से हार गई।

भारत की ओर से हार्दिक पांड्या ने 76 गेंदों पर 90 रनों की साहसिक पारी खेली। अपनी पारी में पांड्या ने 7 चौके और 4 छक्के जड़े। पांड्या को एडम जांपा ने स्टार्क के हाथों कैच आउट कराया। भारत की ओर से सर्वाधिक रन बनाने वाले सलामी बल्लेबाज शिखर धवन रहे।

धवन ने कुल जमा 10 चौकों की मदद से 86 गेंदों पर 74 रन बनाए। इनका कैच भी जांपा की ही गेंद पर स्टार्क ने लपका। बाकी के बल्लेबाज निष्प्रभावी रहे।

पहला विकेट –

सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के रूप में गिरा। अग्रवाल ने 18 गेंदों पर 2 चौकों और 1 छक्के के सहारे 22 रन बनाए।

दूसरा विकेट कप्तान का –

कप्तान विराट कोहली से टीम इंडिया को कप्तानी पारी की आस थी लेकिन वो भी 21 गेंदों पर 2 चौकों और 1 छक्के के सहारे 21 रन जोड़कर आउट हो गए। कोहली को हेजलवुड ने कप्तान फिंच के हाथों कैच आउट कराया।

तीसरा विकेट अय्यर –

श्रेयस अय्यर वनडे में मिले मौके को भुना नहीं पाए और मात्र 2 गेंदों पर महज 2 रन जोड़कर पवेलियन जा बैठे। अय्यर को तीसरे विकेट के रूप में हेजलवुड ने एलेक्स कैरी के हाथों कैच कराया।

टीम के भावी कप्तान बताए जा रहे विकेट कीपर केएल राहुल चौथे विकेट के रूप में आउट हुए। राहुल ने 15 गेंदों पर 12 रन बनाए। अपनी पारी में राहुल मात्र एक चौका मार पाए। राहुल का कैच जांपा की गेंद पर स्टीवन स्मिथ ने लपका।

फिर थमा विकेट का सिलसिला –

लगातार विकेट पतन के बाद शिखर धवन और हार्दिक पांड्या की जोड़ी ने विकेट्स की पतझड़ पर विराम लगाया। पांचवे विकेट के रूप में शिखर धवन आउट हुए। इसके बाद भारत का छठवां विकेट पांड्या के रूप में गिरा।

सातवां विकेट RJ –

रविंद्र जडेजा सातवें विकेट के रूप में आउट हुए। जडेजा 37 गेंदों पर 25 रनों की पारी में मात्र 1 छक्का मार पाए। आठवां विकेट मोहम्मद शमी का गिरा। शमी ने 1 चौके और 1 छक्के की मदद से 10 गेंदों पर 13 रनों का योगदान दिया।

सैनी-बुमराह नाबाद –

नवदीप सैनी ने 35 गेंदों पर 1 चौके और 1 छक्के के सहारे 29 रनों की पारी खेली। बुमराह 3 गेंदों पर खाता भी नहीं खोल पाए। दोनों बल्लेबाज नाबाद लौटे।

विकेट पतन भारत –

53-1 (मयंक अग्रवाल, 5.2), 78-2 (विराट कोहली, 9.3), 80-3 (श्रेयस अय्यर, 9.5), 101-4 (केएल राहुल, 13.3), 229-5 (शिखर धवन, 34.3,) 247-6 (हार्दिक पांड्या, 38.5), 281-7 (रवींद्र जडेजा, 45.4), 308-8 (मोहम्मद शमी, 49.3)।

जांपा 4, हेजलवुड 3 –

भारतीय टीम के 7 बल्लेबाजों को तो एडम जांपा और जोश हेजलवुड ने ही पवेलियन की राह दिखा दी। जांपा ने 10 ओवरों में मात्र एक वाइड गेंद डाली और 54 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किये। हेजलवुड ने एक नो बॉल और एक वाइड गेंद डाली और ओवरों में 55 रन देकर 3 विकेट झटके।

स्टोइनिस सबसे किफायती –

मार्कस स्टोइनिस मैच में सबसे किफायती गेंदबाज रहे। स्टोइनिस ने 6.2 ओवरों में मात्र 25 रन दिये हालांकि उनको कोई विकेट नहीं मिला।

स्टार्क की उदारता –

भारत के लिए सबसे उदार ऑस्ट्रेलियन गेंदबाज मिचेल स्टार्क रहे जिन्होंने 10 गेंदें वाइड और 1 नो बॉल फेंकी। स्टार्क ने 9 ओवर में 65 रन देकर एक विकेट हासिल किया। बैट कमिंस ने 3 वाइड और 1 नो बॉल फेंकी और 8 ओवरों ने 52 रन दिये। कमिंस को विकेट नहीं मिला।

मैक्सवेल सबसे महंगे –

ग्लेन मैक्सवेल ने 604 ओवरों में 55 रन खर्च किये। कुल 8.20 की इकोनॉमी से गेंदबाजी के कारण वे सबसे महंगे ऑस्ट्रेलियन गेंदबाज साबित हुए।

इन्होंने टपकाए कैच –

ऑस्ट्रेलिया की पारी में पहला कैच भारत की ओर से चार बार कैच छूटे। क्षेत्ररक्षण के दौरान 37वें ओवर में जडेजा की गेंद पर स्मिथ का कैच धवन ने टपका दिया। इसके बाद 39.01 ओवर में बुमराह की गेंद पर फिंच का कैच चहल ने शॉर्ट फाइन लेग पर छोड़ा।

मैक्सवेल का कैच 43वें ओवर में चहल की गेंद पर पांड्या नहीं पकड़ पाए जबकि 43.5 ओवर में सैनी की गेंद पर ही मैक्सवेल का कैच श्रेयस अय्यर पकड़ने में नाकाम रहे।

भारतीय पारी –

ऑस्ट्रेलियाई फील्डर्स ने तीन बार भारतीय बल्लेबाजों के कैच छोड़े। पारी के सातवें ओवर में कमिंस की तीसरी गेंद पर कोहली का कैच जांपा ने टपका दिया। इसके बाद 19.5 ओवर में जांपा की गेंद पर धवन का कैच मैक्सवेल नहीं पकड़ पाए।

इसी तरह 24.1 ओवर में स्टार्क की गेंद पर धवन का कैच कमिंस चकाचौंध रोशनी के कारण नहीं पकड़ सके। प्लेयर ऑफ द मैच स्टीवन स्मिथ रहे।

डिस्क्लेमर – आर्टिकल प्रचलित रिपोर्ट्स पर आधारित है। इसमें शीर्षक-उप शीर्षक और संबंधित अतिरिक्त प्रचलित जानकारी जोड़ी गई हैं। इस आर्टिकल में प्रकाशित तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co